मंत्री तोमर की चरण वंदना से सिंधिया नाराज, कहा- ‘मुझे इससे ख़ुशी नहीं, दुःख हुआ’

ग्वालियर। कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने विश्वसनीय और चहेते नेता कमलनाथ सरकार के खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर की चरण वंदना से नाराज हो गए हैं। उन्होंने कहा कि मैं ऐसी बातों के पक्ष में नहीं हूँ। इससे मुझे ख़ुशी नहीं हुई बल्कि दुःख हुआ है। सिंधिया जब ग्वालियर पहुंचे तो मंत्री तोमर उनके चरणों में गिर गए दंडवत प्रणाम किया| इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है| 

दरअसल, ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने एक दिवसीय प्रवास पर सोमवार सुबह ग्वालियर पहुंचे। कांग्रेस नेताओं ने हमेशा की तरह उनका रेलवे स्टेशन पर जोरदार स्वागत किया । स्वागत करने सिंधिया समर्थक कमलनाथ सरकार में खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर भी पहुंचे। उन्होंने सिंधिया को माला पहनाई, हाथ जोड़े, पैर छुए और महाराज महाराज कहते हुए साष्टांग दंडवत प्रणाम के लिए लेट गए। हालाँकि सिंधिया ने उन्हें तत्काल वहां से उठाया लेकिन तब तक ये वाकया कैमरों और मोबाईल में कैद हो गया और थोड़ी देर में वायरल भी हो गया। वीडियो वायरल होते ही मप्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मंत्री गोपाल भार्गव ने इसे लोकतंत्र का अपमान बता दिया। ग्वालियर की मीडिया ने जब सिंधिया से मंत्री प्रद्युम्न तोमर की चरण वंदना पर सवाल किया तो संभलते हुए कहा कि मैं इन चीजों के पक्ष में नही हूँ, मुझे इस घटना से ख़ुशी नहीं हुई है, बल्कि दुख हुआ है। 

प्रद्युम्न को कह दिया यह गलत है : सिंधिया 

सिंधिया ने साफ कहा कि मैंने प्रद्युम्न को कह दिया है कि ये गलत है । महाराष्ट्र में बने असमंजस के हालात पर सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस हाई कमान नजर रखे हुए  है। मेरी इच्छा है वहां जल्द से जल्द सरकार बने। क्योंकि जिस गठबंधन को जनता ने वोट दिया था वो अब टूट चुका है।  संबल योजना के घोटाले पर सिंधिया ने कहा कि इसकी जांच चल रही है जो भी दोषी होगा उसपर कार्रवाई अवश्य होगी।

सिंधिया परिवार का सेवक हूँ : तोमर

वहीं सार्वजानिक तौर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया की चरण वंदना को लेकर उठ रहे सवाल पर मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का कहना है कि मैं सेवक हूँ, जनता और सिंधिया परिवार का सेवक हूँ मालिक नहीं और मैंने एक सेवक के नाते जो किया है उसपर मुझे गर्व है।