इंदौर।आकाश धौलपुरे।

इंदौर में बुधवार को कोरोना फाइटर्स याने स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हुए हमले के मामले ने तूल पकड़ लिया। जहां घटना के बाद इंदौर पुलिस ने वीडियो के आधार पर 10 लोगो के खिलाफ एफआईआर कर 7 लोगो को गिरफ्तार कर लिया है वही इस मामले को लेकर प्रशासन भी गम्भीर नजर आ रहा है। जहां इंदौर कलेक्टर मनीष ने कहा कि ऐसी घटना को नजरअंदाज नही किया जा सकता और स्वास्थ्य विभाग की टीम की सुरक्षा प्रशासन Kई जिम्मेदारी है ऐसे में प्रशासन ने सुरक्षाबल की 5 कंपनियों की मांग की है वही दूसरी और इस मामले को लेकर जिला कलेक्टर मनीष सिंह ने बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव से चर्चा की और जानकारी दी। इधर, टाटपट्टी बाखल – सिलावटपुरा घटना को लेकर कैलाश विजयवर्गीय ने रोष जताया और कहा कि कल की घटना के बाद शहर का नागरिक होने के नाते मैं शर्मिंदा हूँ। विजयवर्गीय ने साफ कहा कि कोरोना वारियर्स की सुरक्षा की जाएगी और प्रशासन मुस्तैदी से काम कर रहा है। वही इंदौर में उन्होंने खाद्यान्न वितरण प्रणाली को दुरुस्त करने का आश्वासन भी शहर की जनता को दिया। विजयवर्गीय ने कहा कि लोग अपने घरों में रहे बेवजह सड़क पर न निकले साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली के मरकज में मौजूद 2 इंदौरवासियो को दिल्ली में ही आइसोलेटेड किया गया है हालांकि उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से 86 लोगो के तबलगी जमात के लोगो की जानकारी को भी नकारा नही। वही उन्होंने जल्द ही कोरोना पीड़ितों सहित अन्य स्वास्थ्यगत जानकारी के मामले में मीडिया को दो मेडिकल बुलेटिन, सुबह 11 बजे और शाम 7 बजे जारी करने की बात कही और कहा इससे अफवाह और भ्रामक जानकारी फैलने से रुकेगी।