एक्जिट पोल के नतीजों पर कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा बयान

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

केंद्र में बैठी बीजेपी सरकार ने देश की राजधानी दिल्ली विधानसभा की सत्ता पाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है लेकिन मतदान के बाद एग्जिट पोल के नतीजे सामने आने के बाद बीजेपी के कई बड़े नेता एग्जिट पोल पर सवाल उठा रहे है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने जहाँ एग्जेक्ट पोल के नतीजों पर विश्वास करने की बात की है और एग्जिट पोल को सिरे से नकार दिया है वही दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने तो एग्जिट पोल के उलट 48 से ज्यादा सीटे जीतने का दावा किया है। इसी बीच इंदौर में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का एक बड़ा बयान सामने आया है जो बीजेपी में ही बयानो के विरोधभास नतीजे को सामने रखने के लिये है।

इंदौर में दिल्ली चुनाव को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि सामान्य तौर पर नतीजे एग्जिट पोल के आसपास ही आते हैं लेकिन कभी-कभी एग्जिट पोल के विपरीत भी आते हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी की स्थिति दिल्ली में सुधरी है। इधर, जब उनसे पूछा गया कि दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा है कि गृहमंत्री अमित शाह 11 तारीख को परिणाम सामने आने के बाद शाहीन बाग की भीड़ हटा देंगे तो विजयवर्गीय ने कहा कि केजरीवाल को न जाने कहा से सपने आते है।

इधर, पश्चिम बंगाल से लौटे विजयवर्गीय ने इंदौर में ये भी कहा कि पश्चिम बंगाल में सरकार अराजक हो गई है। पश्चिम बंगाल सरकार का लोकतंत्र में कोई विश्वास नहीं बचा। यदि वहां केंद्र के किसी कानून के समर्थन में रैली निकाली जाती है तो गिरफ्तारी हो जाती है और यदि केंद्र के विरोध में निकाली जाती है उसे समर्थन मिलता है। वही इंदौर में केंद्र के विरोध में बीजेपी के एकमात्र अल्पसंख्यक पार्षद उस्मान पटेल द्वारा पार्टी छोड़े जाने के फैसले को उन्होंने नासमझी बताया और कहा कि जो हमारे है वो हमारे ही रहेगें। रविवार को विजयवर्गीय इंदौर के खजराना गणेश को पितृपर्वत की हनुमान प्रतिमा के आयोजन का निमंत्रण देने पहुंचे थे।