कमलनाथ मंत्रिमंडल 25 दिसम्बर को लेगा शपथ, नामों पर दिल्ली में जारी मंथन

-Kamal-Nath-cabinet-will-take-oath-on-25th-December-in-governor-house-bhopal

भोपाल। कमलनाथ मंत्रिमंडल में कौन मंत्री बनेगा इसको लेकर दिल्ली में मंथन चल रहा है| मध्य प्रदेश के वरिष्ठ नेता दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं| इस बीच खबर है कि कमलनाथ मंत्रिमंडल के मंत्री 25 दिसम्बर को शपथ लेंगे| दोपहर तीन बजे राजभवन में शपथ कार्यक्रम होगा| सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमण्डल गठन की जानकारी राजभवन को दी गई है और सभी विभागों को तैयारियों के निर्देश दिए गए हैं|  वहीं दिल्ली में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की है|| आज ही राहुल गांधी और कमलनाथ के बीच शाम 7 बजे बैठक होनी है, जिसमे नामों पर अंतिम मुहर लगेगी, इस मुलाकात में मध्य प्रदेश के अन्य नेता भी शामिल हो सकते हैं| सबकी सहमति के बाद अंतिम सूची लेकर कमलनाथ भोपाल आएंगे| 

इससे पहले वरिष्ठ नेताओं और राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांघी से दो दिनों की चर्चा के बाद भी नामों पर मुहर नहीं लग पाई है|  शनिवार को कमलनाथ फिर राहुल एवं ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात करेंगे। पार्टी सूत्र बताते हैं कि कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके मंत्रिमंडल में सिंधिया समर्थक विधायकों की संख्या ज्यादा हो सकती हैं। इसको लेकर सिंधिया ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से चर्चा भी की है। वहीं दिग्विजय सिंह और अरुण यादव की मुलाकात के बाद ऐसा माना जा रहा है कि दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह या उनके बेटे जयवर्धन सिंह दोनों में से किसी एक को मंत्री बनाया जा सकता है|  हालांकि अभी तक मंत्रिमंडल को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है।  मंत्रिमंडल को लेकर एक राय नहीं बनने के चलते एक बार फिर बैठक होंगी, जिसके बाद नाम तय होने के बाद कमलनाथ भोपाल लौटेंगे| आम सहमति न बन पाने के चलते मंत्रियों के नाम फाइनल करने में देरी हो सकती है| हालाँकि कमलनाथ मंत्रिमंडल 25 दिसम्बर को शपथ लेगा| क्यूंकि इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल बाहर जा रही है, जिसके चलते इससे पहले ही नई सरकार के मंत्रिमंडल को शपथ दिलाई जायेगी| 

विधानसभा का नया सत्र 7 जनवरी से शुरू होने वाला है जो 11 जनवरी तक होगा चलेगा, इसमें सभी नए विधायक शपथ लेंगे| 90 विधायक पहली बार सत्र में शामिल होंगे| कई दिग्गज चुनाव हारने के कारण इस बार सत्र में मौजूद नहीं रहेंगे| 

यह बन सकते हैं मंत्री 
जानकारी के मुताबिक मंत्रिपरिषद् में गुटों को साधने के अलावा क्षेत्र को साधने की भी कोशिश होगी। सूत्र बताते हैं कि कमलनाथ मंत्रिमंडल में डॉ. गोविंद सिंह, केपी सिंह, सज्जन सिंह वर्मा, डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ, आरिफ अकील, बाला बच्चन, बिसाहूलाल सिंह, इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, हुकुमसिंह कराड़ा, नर्मदाप्रसाद प्रजापति जैसे अनुभवी तो जीतू पटवारी, हिना कांवरे, प्रियव्रत सिंह, उमंग सिंघार, तरुण भनोत, संजय शर्मा, सुखदेव पांसे, कमलेश्वर पटेल, सचिन यादव जैसे युवा विधायकों को मौका मिल सकता है। वहीं, निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल गुड्डा व ठा. सुरेंद्र सिंह शेरा भैया भी मंत्रिमंडल में शामिल किए जा सकते हैं।