नेहरु को याद कर भावुक हुए कमलनाथ, Children’s Day पर किया बड़ा ऐलान

भोपाल।

आज 14 नवंबर को पूरा देश भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जंयती को बाल दिवस के रूप में मना रहा है। देशभर में जगह जगह कार्यक्रम आयोजित किए गए है और चिल्ड्रन डे बड़ी धूम-धाम से मनाया जा रहा है।मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के बरकतुल्लाह विश्व विद्यालय में भी पंडित जवाहरलाल नेहरु की 130 वी वर्षगाँठ का कार्यक्रम आयोजित किया गया है।कार्यक्रम में शामिल होने मुख्यमंत्री कमलनाथ , उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी पहुंचे।यहां सीएम ने ना सिर्फ बच्चों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का जायजा लिया बल्कि भावुक होकर नेहरु के साथ अपनी पुरानी यादों को भी शेयर किया।वही उन्होंने ऐलान किया कि मप्र में जल्द ही बाल युवा क्लब का गठन किया जाएगा।

पुराने दिनों को याद करते हुए कमलनाथ ने कहा कि मुझे आज के दिन बहुत खुशी होती है। पण्डित नेहरू देश के पीएम भर नही थे बल्कि त्याग की प्रतिमूर्ति थे। नेहरू जी जब बच्चो के साथ होते थे तो सिर्फ बच्चो की बात करते थे, उनके साथ घूमने के समय वो हमसे पढाई से लेकर स्पोर्ट्स की बात करते थे। हम तब उनको बतौर पीएम नही समझते थे, सन्डे के दिन नेहरू जी दून स्कूल में संजय गांधी और मुझे घूमाने लेकर जाते थे और कई बातें बताते थे।

कमलनाथ ने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू त्याग संघर्ष के प्रति है।जब में बोर्डिंग स्कूल में देहरादून में पढ़ाई करता था तब जवाहरलाल नेहरु से मुलाकात हुई थी।जब जवाहरलाल नेहरू से 6 7 घंटे समय बातचीत करने में जाता था। उस समय न कोई फ़ोन न कोई अधिकारी होता था। पढ़ाई को लेकर चर्चा करते थे।बच्चो को गंभीरता से समझना पड़ेगा कितनी चुनोती थी जब पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू बने थे। भाषाओं धर्मो जातियों के साथ प्रांतो को बांटने की चुनोती थी। देश को एकता के लिए चुनोती थी।जवाहरलाल नेहरू ने देश को एक नई दिशा दी है पूरा देश आज एक झंडे के नीचे खड़ा है।

सीएम ने कहा कि 50 साल पहले की शिक्षा और आज की शिक्षा में काफी अंतर है।आज इंटरनेट का युग है बच्चो के लिए शिक्षा आसान हो गई है।आधुनिक भारत बनाने की सोच थी पंडित जवाहरलाल नेहरू में।शिक्षा यूनिवर्सिटी में मिल जाएगी लेकिन ज्ञान रोज़ लेना पड़ता है मैं भी ज्ञान लेता रहता हूं।बच्चे एक्स्ट्रा कर्लिक्यूलर एक्टिविटीज से जुड़े।

सीएम ने आगे कहा कि  नेहरू जी कहते थे कि बच्चे ही देश का भविष्य हैं इसलिए उन्हें प्यार और शिक्षा देना अत्यंत आवश्यक है ताकि वो अपने पैरों पर खड़े हो सकें, हमारी सरकार बच्चों के बेहतर भविष्य निर्माण के लिए संकल्पित है। आधुनिक भारत के निर्माता, भारत के प्रथम प्रधानमंत्री, भारत रत्न, पंडित जवाहर लाल नेहरू जी की जयंती पर शत-शत नमन। पंडित नेहरू ने आजादी के बाद देश के नव-निर्माण की जो मजबूत नींव रखी, उसी का परिणाम है कि आज हमारा राष्ट्र मजबूत और सशक्त राष्ट्र है।देश के भविष्य सभी बच्चों को बाल दिवस की हार्दीक शुभकामनाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here