भोपाल।

नए साल से पहले प्रदेश की कमलनाथ सरकार अपने कैबिनेट मंत्रियों को तोहफा देने की तैयारी में है। खबर है कि सरकार मंत्रियों की स्वेच्छानुदान राशि में बढोत्तरी करने जा रही है। इसके लिए वित्त विभाग भी सहमत हो गया है। अब इसे मंजूरी के लिए आगामी कैबिनेट बैठक में लाया जाएगा। अभी प्रदेश सरकार में सभी 28 मंत्री कैबिनेट हैं, जिन्हें प्रस्ताव पारित होने के बाद बढ़ी हुई स्वेच्छानुदान राशि मिल सकेगी।

दरअसल,राज्य सरकार कैबिनेट मंत्रियों के स्वेच्छानुदान की राशि 50 लाख से बढ़ाकर 1 करोड़ रुपए करने जा रही है। राज्य मंत्रियों का स्वेच्छानुदान भी 35 लाख से बढ़ाकर 50 लाख रुपए किया जा रहा है। वित्त विभाग इस पर सहमत हो गया है। अब इसे मंजूरी के लिए आगामी कैबिनेट बैठक में लाया जाएगा। अभी प्रदेश सरकार में सभी 28 मंत्री कैबिनेट हैं, कोई भी राज्यमंत्री नहीं है। इसलिए सभी मंत्रियों को हर साल कैबिनेट से प्रस्ताव पारित होेने के बाद हर साल 1 करोड़ रुपए की स्वेच्छानुदान की राशि मिल सकेगी।

स्वेच्छानुदान बहुत नही होती है, लेकिन किसी गरीब के इलाज , गरीब के बेटे की किताब, बेरोजगार के ठेले के लिए जब मिलता है तो खुशी होती है। ये स्वेच्छा अनुदान लोगों की जरुरतों को पहुंचाने के लिए काम आती है।

प्रदुम्न सिंह तोमर, कैबिनेट मंत्री, मप्र