‘वंदे मातरम्’ को लेकर बैकफुट पर कमलनाथ सरकार

Kamal-Nath-government-on-backfoot-to-Vande-Mataram

भोपाल। 

वल्लभ भवन में हर महीने की पहली तारीख को वंदे मातरम गायन पर प्रतिबंध लगाकर एमपी सरकार विवादों में आ गई है। बीजेपी ने इस मुद्दे को हाथों-हाथ लपक लिया है और बुधवार की सुबह 11 बजे वल्लभ भवन के प्रांगण में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपने नेताओं के साथ पहुंचकर वंदे मातरम गायन किया। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी 7 जनवरी को वल्लभ भवन प्रांगण में वंदे मातरम गाने का ऐलान किया है। मध्य प्रदेश की जनता में भी इस निर्णय को लेकर सरकार के प्रति अच्छी छवि नहीं बन रही है।

अब मुख्य मंत्री कमलनाथ ने ऐलान किया है कि जल्द नए प्रारूप में वंदे मातरम का गायन दोबारा शुरू होगा। उन्होंने बीजेपी पर प्रहार करते हुए कहा कि बीजेपी की आदत तो राजनीति करने की है चाहे वह मुद्दा राम मंदिर का हो या फिर वंदे मातरम का। विधि विधायी मंत्री पी सी शर्मा का कहना है कि वंदे मातरम तो कांग्रेस के डीएनए में है और महात्मा गांधी ,जवाहरलाल नेहरू से लेकर अब तक कांग्रेस वंदे मातरम गाती रही है।

उन्होंने बताया कि 28 दिसंबर को कांग्रेस की स्थापना दिवस पर भी अभी 4 दिन पहले ही वंदे मातरम गायन किया गया था। पीसी शर्मा ने कहा कि वंदे मातरम का बीजेपी से कोई लेना देना नहीं है और अब कांग्रेस की सरकार वंदे मातरम को नए रूप में लाकर आम जनता को भी इसके साथ जोङेगी। जाहिर सी बात है कि  वंदे मातरम गायन पर प्रतिबंध को लेकर जिस तरह से प्रदेश भर में माहौल बना है ,अब कांग्रेस इस मुद्दे का जल्द से जल्द पटाक्षेप करने के मूड में है।


7 जनवरी को वंदे मातरम् गान करेंगें शिवराज

 पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोशल मीडिया पर ऐलान किया है कि वह विधानसभा सत्र के पहले दिन सुबह 10:00 बजे वल्लभ भवन के प्रांगण में वंदे मातरम् का गान करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि ”मैं और प्रदेश बीजेपी के समस्त विधायक विधानसभा सत्र के पहले दिन 7 जनवरी, 2019 को प्रातः 10:00 बजे वल्लभ भवन के प्रांगण में वंदे मातरम् का गान करेंगे. इस मुहिम से जुड़ने हेतु आप सभी का स्वागत है।’ इससे पहले शिवराज ने लिखा था कि अगर कांग्रेस को राष्ट्र गीत के शब्द नहीं आते हैं या फिर राष्ट्र गीत के गायन में शर्म आती है, तो मुझे बता दें! हर महीने की पहली तारीख़ को वल्लभ भवन के प्रांगण में जनता के साथ वंदे मातरम् मैं गाऊंगा। ”

मैं और @BJP4MP के समस्त विधायक विधानसभा सत्र के पहले दिन 7 जनवरी, 2019 को प्रातः 10:00 बजे वल्लभ भवन के प्रांगण में वंदे मातरम् का गान करेंगे। इस मुहिम से जुड़ने हेतु आप सभी का स्वागत है। https://t.co/5h6W16NJSZ

— ShivrajSingh Chouhan (@ChouhanShivraj) 2 January 2019

बता दे कि कांग्रेस सरकार ने कर्मचारियों के वंदेमातरम गाने पर रोक लगा दी है। राज्य की कमलनाथ सरकार ने फैसला लिया है कि राज्‍य सचिवालय के बाहर हर महीने की पहली कामकाजी तारीख को वंदे मातरम नहीं गाया जाएगा। कर्मचारियों को कहा गया है कि वे जनता के कल्‍याण के कामों पर ध्‍यान दें। इस फैसले को लेकर भाजपा ने कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा है।इसी के चलते साल की पहली तारीख को मंत्रालय में वंदेमातरम नही गाया गया था।