शिव ‘राज’ के इस अधूरे वादे को पूरा करेगी कमलनाथ सरकार

भोपाल।

मध्यप्रदेश की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए खुशखबरी है।प्रदेश की कमलनाथ सरकार पिछली शिवराज सरकार में अधूरे रह गए वादे को पूरा करने जा रही है।सरकार ने फैसला किया है कि अब  अब वह छूटे 69 हजार 135 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी मोबाइल फोन देगी।अभी 27 हजार 817 कार्यकर्ताओं के पास मोबाइल हैं।। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग ने लघु उद्योग निगम (एलयूएन) के माध्यम से टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी है।जल्द ही आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकार ये तोहफा देगी।

दरअसल,  शिव ‘राज’ में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मोबाइल बांटने की शुरुआत की गई थी, पहले चरण में 27 हजार 817 कार्यकर्ताओं को मोबाइल बांटे गए  लेकिन दूसरे चरण में मोबाइल बांटे जाते इसके पहले ही सत्ता परिवर्तित हो गई। लेकिन राज्य की कमलनाथ सरकार ने इस अधूरे काम को पूरा करने का फैसला किया है। जिसके तहत सरकार अब  69,218 कार्यकर्ताओं को मोबाइल देगी।इसके लिए  कार्यकर्ताओं को 10 हजार रुपए मूल्य का मोबाइल दिया जाएगा। ये मोबाइल माइक्रोमैक्स और कार्बन कंपनी के होंगें। 

महिला एवं बाल विकास विभाग ने लघु उद्योग निगम (एलयूएन) के माध्यम से टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी है।  विभाग का दावा है कि मोबाइल देने से आंगनवाड़ियों के कामकाज में सुधार आया है। मध्य प्रदेश में 43 लाख बच्चे कुपोषण का शिकार हैं। फिर भी शिकायतें मिल रही हैं कि आंगनवाड़ियां समय से नहीं खुल रहीं। लगातार मॉनीटरिंग नहीं हो रही। इसे देखते हुए केंद्र सरकार ने देशभर की आंगनवाड़ियों को जियो टैग करने और कार्यकर्ताओं को मोबाइल देने के निर्देश दिए हैं।