-Kamal-Nath-Government's-first-big-action-on-corrupt-and-careless-officers

भोपाल। एक माह का कार्यकाल पूरा कर चुकी कमलनाथ सरकार ने अब भ्रष्ट और लापरवाह अफसरों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है| सरकारी महकमे में बैठे ऐसे अफसर निशाने पर हैं, जिनकी लापरवाही से सरकार की किरकिरी होती है| हाल ही में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अस्पतालों में अनियमितताओं को लेकर जिम्मेदारों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए, साथ ही नशे के अवैध कारोबारों और उनकों संरक्षण देने वाले अफसरों पर कड़ी कार्रवाई की बात कही थी| इसके बाद सरकार ने भ्रष्ट और लापरवाह अफसरों पर पहली बड़ी कार्रवाई की है| आगे भी ऐसी ही कार्रवाई की जा सकती है| सीएम हेल्पलाइन पर जनता की समस्याओं के निराकरण एवं जनहित के कामों मं लापरवाही बरतने पर जबलपुर नगर निगम आयुक्त चंद्रमौली शुक्ला, खंडवा निगगायुक्त डीएस परिवार समेत 17 नगर पालिका सीएमओ पर कार्रवाई के नोटिस जारी किए गए हैं। जबकि  प्रमुख सचिव की वीडियो कॉफ्रेंस में बिना बताए अनुपस्थित रहने पर माकड़ौन सीएमओ रफीक मुल्तान को निलंबित किया गया है। प्रमुख सचिव प्रमोद अग्रवाल एवं आयुक्त गुलाशन बामरा ने वीडियो कॉफ्रेसिंग के माध्यम से विभाग के काम एवं सीएम हेल्पलाइन से जुड़ी शिकायतों की समीक्षा की। 

प्रमुख सचिव अग्रवाल ने सीएम हेल्पलाइन, पेयजल आपूर्ति और अन्य कार्यों में लापरवाही पर एक मुख्य नगरपालिका अधिकारी को निलंबित करने और 13 मुख्य नगरपालिका अधिकारियों की एक-एक वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश दिये हैं। आयुक्त नगरपालिक निगम जबलपुर के आयुक्त चंद्रमौलि शुक्ल, आयुक्त नगरपालिक निगम खण्डवा, डीएस परिहार और प्रभारी सीएमओ नगरपालिका सुसनेर मनीष जैन की एक-एक वेतन वृद्धि रोकने के लिए कारण बताओ नोटिस दिया गया है। अग्रवाल ने कहा कि सभी स्वीकृत कार्य समय-सीमा में पूरा करवायें। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर कार्यो की गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जायेगा।

इन पर गिरी गाज 

सीएम हेल्पलाइन में सौ दिन से अधिक लंबित शिकायतों पर सीएमओ नीमच संजेश गुप्ता, सीएमओ हाट पिपल्या प्रभु पाटीदार, सीएमओ मंदसौर श्रीमती सरिता प्रधान, सीएमओ व्यौहारी सुश्री रीना राठौर, सीएमओ नागौद  शैलेन्द्र प्रताप सिंह, सीएमओ पिछोर सुधीर मिश्रा, सीएमओ अशोकनगर  बीडी कतरोलिया, सीएमओ गुना पीएस बुन्देला, सीएमओ बडवाह संतराम चौहान, सीएमओ धार राधेश्याम मंडलोई, सीएमओ महेश्वर श्रीमती आशा भंडारी, सीएमओ हातौद दामोदर चौधरी, सीएमओ छतरपुर हरिहर गंधर्व की एक-एक वेतन वृद्धि रोकने के आदेश दिये गये है। वीडिया कॉन्फ्रेंसिंग में अनुपस्थित रहने पर सीएमओ माकड़ौन रफीक मुल्तानी को निलंबित करने के आदेश दिए गए हैं।