कमलनाथ के मंत्री ने संगठन पर उठाए सवाल, सिंधिया को PCC चीफ बनाने की वकालत

भोपाल। झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद एक बार फिर एमपी में नए पीसीसी चीफ की चर्चाओं ने जोर पकड़ रखा है।  खबर है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात भी की है, हालांकि दोनों के बीच क्या बातचीत हुई इसका खुलासा नही पाया है। पीसीसी चीफ को लेकर चल रही अटकलों के बीच कमलनाथ सरकार में पशुपालन मंत्री लाखन सिंह ने बड़ा बयान दिया है। लाखन सिंह ने अपनी ही पार्टी के संगठन पर सवाल उठाए है। वही सिंधिया को पीसीसी चीफ बनाने की मांग की है।

आज मीडिया से चर्चा के दौरान लाखन सिंह ने कहा कि भले हम सरकार में हों, लेकिन संगठन कमजोर है। इसे मेहनत करके मजबूत करने की जरूरत है। जो भी अध्यक्ष बनेगा उसे मेहनत करना पड़ेगी। वही उन्होंने सिंधिया की वकालत करते हुए कहा कि सिंधिया युवा हैं प्रदेश अध्यक्ष बनते हैं तो संगठन में मजबूती आएगी। लाखन सिंह ने ऐसे समय सिंधिया का समर्थन किया है जब दिल्ली में पीसीसी चीफ को लेकर सरगर्मियां तेज है।

लाखन सिंह ने हाल ही में मुरैना में एक बयान दिया था और कहा था कि अपने क्षेत्र और मुरैना की जनता की साथ कार्यकर्ताओं के लिए वे हमेशा तत्पर रहे है और अगर इसके बाद भी सिंधिया जी को मेरी कार्यशैली पसंद नही आई है तो वे खुद मुझे हटा सकते है या फिर कहेंगें तो मैं खुद प्रभारी मंत्री के पद से इस्तीफा दे दूंगा। सिंधिया जी को मुझे हटाने का पूरा अधिकार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here