कमलनाथ ने चुनाव आयोग से किया मनरेगा मजदूरों को भुगतान करने की अनुमति देने का आग्रह, शिवराज सरकार पर आरोप

Kamal Nath

कमलनाथ ने कहा है कि मध्य प्रदेश में लंबे समय से मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों को मजदूरी नहीं मिली है। उन्होने शिवराज सरकार पर आरोप जड़ा कि उनकी सरकार एक तरफ तो लगातार कर्ज ले रही है, वहीं मजदूरों और गरीब तबके को उसके हक का पैसा नहीं दिया जा रहा है। इसी के साथ उन्होने चुनाव आयोग से भी आग्रह किया है कि आचार संंहिता लग चुकी है, लेकिन मजदूरों को उनकी मेहनत का पैसा देने की अनुमति दी जाए।

मनरेगा मजदूरों को भुगतान की मांग

ट्वीट करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा है कि ‘मध्य प्रदेश में करीब 10 हफ्ते से मनरेगा में काम करने वाले श्रमिकों को उनकी मजदूरी नहीं मिली है। त्योहार के मौसम में मजदूरों के साथ इस तरह का व्यवहार अमानवीय है। मैं शिवराज जी से जानना चाहता हूं कि उनकी सरकार लगातार कर्ज लेती रही है और आचार संहिता के दौरान भी कर्ज लेने की तैयारी चल रही है। जब लाखों मनरेगा श्रमिकों को उनकी मजदूरी नहीं दी जा सकती तो आखिर यह कर्ज किस चीज के लिए लिया जा रहा है। शिवराज जी गरीबों के मुंह से निवाला छीनने से बड़ा पाप और कुछ नहीं है। मैं माननीय निर्वाचन आयोग से भी आग्रह करता हूं कि आचार संहिता के बावजूद श्रमिकों की मजदूरी का भुगतान किया जाए, यह उनका अधिकार है।’

Continue Reading

About Author
श्रुति कुशवाहा

श्रुति कुशवाहा

2001 में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर (M.J, Masters of Journalism)। 2001 से 2013 तक ईटीवी हैदराबाद, सहारा न्यूज दिल्ली-भोपाल, लाइव इंडिया मुंबई में कार्य अनुभव। साहित्य पठन-पाठन में विशेष रूचि।