मोदी के ‘किसान’ से भारी कमलनाथ की ‘गाय’

-Kamal-Nath's-'cow'-is-Heavy-than-Modi's-farmer

भोपाल| केंद्रीय बजट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के लिए 6,000 सालाना की न्यूनतम आय देने की घोषणा की है| प्रतिमाह यह राशि 500 रू होती है और प्रतिदिन के हिसाब से  देखा जाए तो यह राशि लगभग 16 रू मात्र है। बढ़ती महंगाई के दौर को देखते हुए यह राशि ऊट के मुंह में जीरे जैसी है। वहीं हाल ही में मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गायों को मिलने वाले चारा अनुदान की राशि 3 रुपए से बढ़ाकर 20 रुपए करने की घोषणा की है। यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हिसाब से किसानों को 16 रू की राशि किसान को मिलेगी जबकि मध्यप्रदेश में कमलनाथ की घोषणा के अनुरूप गाय को उससे 4 रू ज्यादा मिलेंगे। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की किसानों को 6000  रू प्रति वर्ष देने की घोषणा को किसानों के साथ भद्दा मजाक बताया है। उन्होंने कमलनाथ सरकार के निर्णय से नरेंद्र मोदी के निर्णय की तुलना करते हुए कहा कि सरकार को इस तरह का मजाक करने से पहले पूछना चाहिए था कि क्या इससे किसानों की कोई मदद वास्तव में हो पाएगी। सिर्फ चुनाव को ध्यान में रखकर की गई है घोषणा वास्तव में किसानों का कोई भला नहीं कर पाएगी| 

गौरतलब है कि शुक्रवार को मोदी सरकार ने अपना अंतरिम बजट पेश किया| जिसमे सरकार ने 12 करोड़ किसानों को राहत देते हुए ऐलान किया है कि 2 हेक्टेयर तक की जमीन रखने वाले किसानों को उनकी आमदनी में सपोर्ट करने के लिए 6000 रुपए हर साल उनके खाते में जमा किए जाएंगे। ये रकम 2-2 हजार रुपए की तीन बराबर किश्तों में दिया जाएगा| जो कि यह राशि 500 रुपए महीना होती है| वहीं एक दिन के हिसाब से यह लगभग 16 रुपए होती है| एक तरह बीजेपी इस घोषणा को लेकर अपनी पीठ थपथपा रही है, वहीं कांग्रेस द्वारा इसे किसानों का अपमान बताया जा रहा है|