कांग्रेस की सरकार बनना तय, कार्यकर्ता EVM पर निगरानी रखें : कमलनाथ

kamalnath-appea-to-all-congress-leader-to-keep-eye-on-strong-room

भोपाल। विधानसभा चुनाव के बाद अब कांग्रेस ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की संभावना को लेकर चौकस हो गई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश के सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील कि है की वह 11 दिसंबर मतगणना तक स्ट्रॉंग रूम व ईवीएम पर निगरानी रखें। इसके साथ ही उन्होंने एक बार फिर कांग्रेस की जीत के दावे को दोहराया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनना तय है। यही नहीं उन्होंने एक बार फिर अफसरों को भी उनकी जिम्मेदारी याद दिलाई है और उनसे अपील करते हुए कहा है कि वे लोकतंत्र के महापर्व के अवसर पर मतगणना तक निष्पक्षता का आचरण करें।

दरअसल, मतदान के बाद अब प्रदेश भर में प्रशासन द्वारा स्टांग रूम तैयार किये गए हैं। जहां ईवीएम को रखाने का काम किया जा रहा है। इस दौरान प्रदेश के कई जिलों से  स्ट्रॉंग रूम से जुड़ी घटनाएं सामने आईं। राजधानी भोपाल में  शुक्रवार सुबह डेढ़ घंटे तक स्ट्रांग रूम के बाहर लगाई गई एलईडी बंद पाई गई। इसे लेकर कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि स्ट्रांग रूम में ईवीएम के साथ में छेड़छाड़ की गई है। प्रदेश के कई और जिलों से भी इस तरह की शिकायतें मिलने पर कांग्रेस अब सक्रिय हो गई है। कांग्रेय कार्यकर्ता पूरी नजर स्ट्रांग रूम पर बनाए हुए हैं। इसी को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्विट कर कार्यकर्ताओं को सतर्क रहने की सलाह दी है। 

उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा है कि, ‘सभी कांग्रेसजन, कांग्रेस प्रत्याशियों से अपील 11 दिसम्बर मतगणना तक स्ट्रॉंग रूम व ईवीएम पर निगरानी रखे, विशेष सावधानी रखें। कांग्रेस की सरकार बनना तय है। चुनावी कार्य में लगे सभी ज़िम्मेदार प्रशासन के अधिकरियों से अपील है कि वे लोकतंत्र के महापर्व के अवसर पर मतगणना तक निष्पक्षता का आचरण करें। मतदान के दौरान कुछ अधिकरियो की गड़बड़ी की हमें शिकायत मिली है।’

‘चुनावी कार्य में लगे सभी ज़िम्मेदार प्रशासन के अधिकरियो से अपील है कि वे लोकतंत्र के महापर्व के अवसर पर मतगणना तक निष्पक्षता का आचरण करें। मतदान के दौरान कुछ अधिकरियो की गड़बड़ी की हमें शिकायत मिली है।’

शुक्रवार की शाम को कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मिला जिसमें हुजुर विधानसभा सें कांग्रेस प्रत्याशी नरेश ज्ञानचंदानी, नरेला के प्रत्याशी महेन्द्र सिंह चौहान, गांविंदपुरा से प्रत्याशी गिरीश शर्मा एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा शमिल थें। प्रतिनिधि मंडल ने श्री कांताराव से शिकायत दर्ज कराई की आखिर लाईट कैसें गई और उसी समय कलेक्टर एवं एडीएम का दौरा भी हुआ जो शक के दायरे में है। कांग्रेस ने शिकायत में कांग्रेस के एजेंटों के बैठनें के लिए टेंट की व्यवस्था न करने, लाईट जाने पर समकक्ष लाईट की व्यवस्था न करने एवं मेन गेट को साईड में सील करने को लेकर अपना विरोध दर्ज कराया जिसके बाद मेन गेट को बीच में से सील किया गया। प्रतिनिमिंडल ने आशंका जताई की इस दौरान कोई गड़बड़ी भी हुई होगी।