kamalnath-cabinet-constitute-today-phone-to-mla's-for-invitations-

भोपाल| कमलनाथ की टीम तैयार है, आज ढाई दर्जन विधायक मंत्रिमंडल में शामिल होंगे| राजभवन में दोपहर तीन बजे राज्यपाल आनंदी बैन पटेल सभी को शपथ दिलाएंगी| शपथ के लिए कांग्रेस नेता भोपाल में ही डेरा डाले हुए हैं| वहीं नामों को लेकर दिल्ली में लम्बी माथापच्ची चली| अंतिम समय तक नामों का खुलासा नहीं किया गया| मंत्री बनने की दौड़ में शामिल विधायक टकटकी लगाए रात भर बैठे रहे, कुछ को उनके नेताओं से सूचना प्राप्त हो गई तो सुबह दस बजे के बाद कई विधायकों को फ़ोन पर न्योता मिला है| 

कांग्रेस विधायक तरुण भनोट, जीतू पटवारी, सज्जन वर्मा, जयवर्धन सिंह के पास सुबह फ़ोन पहुंचा है और शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए कहा गया है| इसके अलावा लाखन सिंह, प्रधुम्न सिंह और इमरती देवी के पास भी फोन पहुँच चुका है । ग्वालियर से तीन मंत्री मंत्री बनाये जा रहे हैं| दिल्ली में पांच दिन बैठकों का दौर चला, देर रात तक बैठकें चलती रही| नाम को लेकर भी खासी गोपनीयता बरती जा रही है| कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है| वहीं जो लिस्ट सामने आई है उसके अनुसार 28 लोगों के नाम हैं| इनमे कितने विधायक कैबिनेट मंत्री होंगे और कितनो को राज्यमंत्री बनाया जाता है| यह शपथ के समय ही पता चलेगा| वहीं शपथ के बाद सभी को विभाग आवंटित किये जाएंगे| किस मंत्री को कौनसे विभाग की जिम्मेदारी सौंपी जानी है इसको लेकर भी दिल्ली में फैसला हो चुका है|  

कई दिग्गज नेता मंत्री बनने की उम्मीद लगाए बैठे थे| जिनकी उम्मीदों पर पानी फिर गया है| कांग्रेस के कद्दावर नेता और पिछोर विधायक केपी सिंह का नाम मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया जा रहा है| सूत्रों के मुताबिक ज्योतिरादित्य सिंधिया के दबाव के चलते उनका नाम कटा है| इसके अलावा मुरैना के एंदल सिंह कंसाना को भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिल पाई है| केपी सिंह का नाम शुरुआत से तय माना जा रहा था| लेकिन अंतिम समय में उनका नाम सूची से कट गया| वहीं कांग्रेस से पहली बार विधायक बने 55 नए चेहरों में से किसी को भी कमलनाथ कैबिनेट को जगह नहीं दी गई है। कैबिनेट गठन को लेकर पांच दिनों तक दिल्ली में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ और  ज्योतिरादित्य सिंधिया से कई बार मुलाकात की।  

ये विधायक पहली बार बनेंगे मंत्री

जयवर्द्धन सिंह, प्रदीप जायसवाल, तरुण भानौत, इमरती देवी, जीतू पटवारी, सचिन यादव, गोविंद राजपूत, तुलसी सिलावट, कमलेश्वर पटेल, लखन घनघोरिया, उमंग सिंघार, लाखन सिंह यादव और राजवर्द्धन सिंह ।