सिंधिया के बयान से खफ़ा कमलनाथ

उपचुनाव

भोपाल/नई दिल्ली। आम तौर पर शांत और सहज रहने वाले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ शुक्रवार को असहज नज़र आए। दरअसल मध्य प्रदेश कांग्रेस की समन्वय कमेटी की बैठक दिल्ली में मुख्यमंत्री कमलनाथ के बंगले पर थी और बैठक से निकलने के बाद जब उनसे सवाल पूछा गया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अतिथि शिक्षकों से कहा है कि यदि उनकी मांगे पूरी नहीं हुई तो वे सड़कों पर उतरेंगे, इसपर उनका क्या कहना है। इस बात पर कमलनाथ ने कहा तो ठीक है उतर जाएं। कमलनाथ की सिंधिया से नाराजगी की वजह यह भी थी कि वे समन्वय समिति की बैठक के बीच में से उठकर चले गए। जैसे तैसे करके कमलनाथ कांग्रेस को प्रदेश में मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया के रवैये को लेकर लगातार प्रदेश कांग्रेस में असंतोष का माहौल बन रहा है। ऐसे में मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष दोनों का दायित्व संभाल रहे कमलनाथ के लिए यह बहुत मुश्किल होता जा रहा है कि वह कांग्रेस की सरकार चलाएं या संगठन।

सूत्रों की मानें तो कमलनाथ ने सिंधिया के रवैये की शिकायत कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी की है। अब देखना यह होगा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस रवैये को लेकर कांग्रेस के आलाकमान उन पर क्या एक्शन लेते हैं ?