Kanpur: पीएम मोदी की सभा में उपद्रव के इरादे से पहुंचे पांच सपा कार्यकर्ता हिरासत में

पीएम मोदी की रैली में खलल पैदा करने की मंशा से आए पांच समाजवादी पार्टी का कार्यकर्ता गिरफ्तार। पीएम मोदी कानपुर सभा को संबोधित करने वाले थे।

कानपुर, डेस्क रिपोर्ट। उत्तर प्रदेश के  kanpur में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में खलल डालने और उपद्रव करने के इरादे से आए पांच समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।समाजवादी पार्टी (सपा) के पांच कार्यकर्ताओं को मंगलवार को कानपुर में हुई हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार कर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

यहां भी देखें- PM Modi की बड़ी घोषणा- 3 जनवरी 2022 से शुरू होगा 15-18 साल के बच्चों का टीकाकरण

सपा कार्यकर्त्ता सचिन केसरवानी समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ता हैं जिन्हें गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ सभा में अंकुर पटेल, निकेश कुमार, शुकांत शर्मा और अभिषेक रावत भी शामिल हैं।

यहां भी देखें- PM Modi की बड़ी घोषणा- 3 जनवरी 2022 से शुरू होगा 15-18 साल के बच्चों का टीकाकरण

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच कर सुकांत शर्मा, सचिन केसरवानी, अभिषेक रावत, निकश कुमार और अंकुर पटेल को हिरासत में लिया है। सभी समाजवादी पार्टी की युवा ब्रिगेड से जुड़े हुये हैं। इन पांचों के साथ इनके कार भी पुलिस ने जप्त कर ली है।

यह भी देखें- PM Kisan : चार दिन बाद किसानों के खाते में आएंगे इतने रुपये, जारी होगी 10वीं किश्त

तोड़फोड़ और आगजनी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस ने इनकी पहचान कर पांचों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सपा कार्यकर्ताओं ने जानबूझकर कार में तोड़फोड़ की और उस पर भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी का पोस्टर लगा दिये जिससे शंका की सुई भाजपा की तरफ घूमे।

दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, ”सचिन केसरवानी ने अपने 8-10 साथियों के साथ हमीरपुर रोड पर प्रधानमंत्री का पुतला फूंका और अशांति और हिंसा फैलाने की कोशिश की। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री सोमवार को मेट्रो का उद्घाटन और एक रैली में भाग लेने के लिए कानपुर आए हुए थे।

अब इस पर एक्शन लेते हुए समाजवादी पार्टी द्वारा बुधवार को लखनऊ में जारी बयान के अनुसार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर सचिन केसरवानी, अंकुर पटेल, अंकेश यादव, सुकान्त शर्मा तथा सुशील राजपूत उनके किए की सजा देता है पार्टी से निकाल दिया गया है।