भाजपा के दिग्गज सांसद की इस बात से आहत हुए कुसमरिया, दर्ज करायेंगे FIR

Kusmaria-hurt-to-prahlad-patel-comment-says-will-file-FIR-against-bjp-mp

भोपाल| मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद अब लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज होती जा रही हैं| नेताओं के बीच जुबानबाजी का दौर शुरू हो गया| भाजपा से नाता तोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले बुंदेलखंड के दिग्गज नेता रामकृष्ण कुसमरिया बीजेपी सांसद प्रह्लाद पटेल से नाराज हैं| इसके पीछे उनका बयान है जो पटेल ने कुसमरिया के कांग्रेस में जाने को लेकर दिया था| कुसमरिया ने भाजपा सांसद के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए एफआईआर दर्ज कराने की बात कही है| 

दरअसल,  भाजपा के कद्दावर नेता रहे रामकृष्ण कुसमरिया के भाजपा छोड़कर कांग्रेस ज्वाइन करने पर दमोह सांसद प्रहलाद पटेल ने बयान दिया था कि उनका ये फैसला परिवार के लिए घातक साबित होगा। इस पर अब कुसमरिया का बयान सामने आया है। बुधवार को मीडिया से बातचीत में कुसमरिया ने कहा कि प्रहलाद पटेल की बात से उन्हें गहरा आघात पहुंचा है और वह उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएंगे। सांसद प्रह्लाद पटेल ने कुसमारिया के लिए कहा था कि उन्होंने कांग्रेस में जाने का निर्णय लेकर खुद, पार्टी और परिवार के लिए भारी चोट पहुंचाई है। यह उन्होंने अपने जीवन का सबसे गलत फैसला लिया है। इस बयान को लेकर डॉ. कुसमारिया ने कहा कि यह उनका स्वयं का फैसला है। मेरे फैसले पर किसी आपत्ति क्यों है? उन्हाेंने कहा- सांसद ने गलत बयान दिया है। सांसद पटेल ने भी इससे पहले पार्टियां बदली हैं और नए संगठन बनाए हैं।  कुसमरिया ने कहा कि सांसद पटेल भी पहले नई पार्टी में शामिल होकर चुनाव लड़े हैं। वहीं, उसके पहले निर्दलीय रहकर चुनाव लड़ चुके हैं। वे अपने गिरेबान में तो देखें फिर दूसरों पर टिप्पणी करें। उन्होंने कहा इतनी जिम्मेदार व्यक्ति ने इतनी छोटी बात कही, उन्होंने हमारे जमीर को चोट पहुंचाई है, राजनीति करने के लिए लोकतंत्र है, किस पार्टी में रहना है यह निजी विचार है, जब तक बनी काम किया, अब नहीं बन रही तो दूसरी पार्टी में चले गए| 

भाजपा के कद्दावर नेता माने जाने वाले रामकृष्ण कुसमरिया ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने 8 फरवरी को भोपाल में कांग्रेस की सदस्यता ले ली है। जिसके बाद से ही वे भाजपा पर निशाना साध रहे हैं। विधानसभा चुनाव में भी कुसमरिया ने भाजपा से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ा था| अब लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल हुए हैं, जिसके बाद उन्हें बुंदेलखंड की किसी सीट से प्रत्याशी बनाये जाने की संभावना है|