Lok Sabha Election 2024 : जीतू पटवारी ने की मतगणना के दौरान उज्जैन में विशेष केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त करने की मांग, गड़बड़ी की आशंका जताई

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा कि उज्जैन संसदीय क्षेत्र सीएम मोहन यादव का गृहनगर है तो भाजपा के पक्ष में परिणाम लाने के प्रयास किया जाना संभावित है। निष्पक्ष मतगणना के लिए उन्होंने विशेष केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त करने की मांग की है।

Jitu

Lok Sabha Election 2024 : कांग्रेस प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखकर उज्जैन लोकसभा संसदीय क्षेत्र में मतगणना के दिन 4 जून को विशेष केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि उज्जैन मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव का गृहनगर है और यहाँ से येनकेन प्रकारेण परिणाम बीजेपी के पक्ष में लाने का प्रयास हो सकता है, इसलिए वहाँ विशेष केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त किया जाए।

जीतू पटवारी ने मुख्य चुनाव आयुक्त को लिखा पत्र

इस पत्र में जीतू पटवारी ने लिखा है कि ‘उज्जैन संसदीय क्षेत्र से महेश परमार कांग्रेस प्रत्याशी हैं और चूँकि उज्जैन सीएम मोहन यादव का गृहनगर है तो भाजपा के पक्ष में परिणाम लाने के प्रयास किया जाना संभावित है क्योंकि ये उनकी प्रतिष्ठा का प्रश्न है। उज्जैन में प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री के दबाव में प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों द्वारा भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में खुलकर कार्य किया है, उनके कार्यकर्ताओं का समर्थन किया है एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं को परेशान एवं हतोत्साहित किया है। मतगणना दिवस 4 जून को मतगणना कार्य में शासकीय अधिकारी, कर्मचारी जो उपस्थित रहेंगे उनमें से अधिकतर भाजपा से जुड़े नेताओं के समर्थक होने के कारण एवं मुख्यमंत्री के दबाव व प्रभाव के कारण मतगणना निष्पक्ष रूप सेहोना संभावित नहीं है एवं मतगणना के दौरान ईवीएम मशीनों एवं डाक मतपत्रों की गिनती में निश्चित रूप से शासकीय कर्मचारियों द्वारा किसी न किसी तरह से भाजपा प्रत्याशी को लाभ पहुँचाने का प्रयास किया जाना संभव है। ऐसी स्थिति में निष्पक्ष मतगणना होना संभव प्रतीत नहीं होता है।’

विशेष केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त करने की मांग 

पत्र में उन्होंने आगे लिखा है कि ‘इसीलिए माननीय निर्वाचन आयोग से निवेदन है कि लोकसभा संसदीय क्षेत्र उज्जैन में जोकि प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव का गृहनगर होने एवं उनकी प्रतिष्ठा का प्रश्न होने की दशा में प्रशानसनिक अधिकारियों पर दबाव बनाकर मतगणना में हेरफेर कराने की पूरी संभावना निर्मित होना प्रतीत होता है। इसीलिए आपसे निवेदन है कि 4 जून को होने वाले मतगणना दिवस पर लोकसभा संसदीय क्षेत्र उज्जैन में विशेष केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त किया जाए जिससे लोकसभा चुनाव के परिणाम की घोषणा निष्पक्ष रूप से हो सके’। बता दें कि उज्जैन से बीजेपी उम्मीदवार अनिल फिरोजिया हैं और कांग्रेस से महेश परमार मैदान में हैं।


About Author
श्रुति कुशवाहा

श्रुति कुशवाहा

2001 में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर (M.J, Masters of Journalism)। 2001 से 2013 तक ईटीवी हैदराबाद, सहारा न्यूज दिल्ली-भोपाल, लाइव इंडिया मुंबई में कार्य अनुभव। साहित्य पठन-पाठन में विशेष रूचि।