शीतलहर की चपेट में मध्य प्रदेश के कई जिले, यहां पाला गिरने की संभावना

3685

भोपाल। उत्तर भारत में हाड़मास कंपाने वाली ठंड से मध्य प्रदेश भी शीतलहर की चपेट में है। प्रदेश के कई जिलों में पारा 4 डिग्री तक पहुंच गया। प्रदेश का टीकमगढ़ जिला सबसे अधिक ठंड की चपेट में रहा। यहां पारा एक डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। प्रदेश में कम से कम 32 शहरों में न्यूनतम तापमान 9 डिग्री से नीचे रहा है। राजधानी भोपाल भी शीतलहर की चपेट में आकर दिन में भी ठिठुर रही है। यहां पारा शुक्रवाक की तुलना में एक डिग्री और गिरकर 5़ 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। यह सामान्य से पांच डिग्री कम है। इस सीजन में भोपाल में यह सबसे कम न्यूनतम तापमान है।

न्यूनतम तापमान टीकमगढ़ में 1.5 डिग्री, उमरिया में 1.9, दमोह में 2.5, मलाजखंड, 2.7, बैतूल 2.8, नौगांव 3.1, सीधी 3.2, रायसेन 3.3, श्योपुर 3.4, खरगोन 3.7, सागर 4, ग्वालियर 4.3, रीवा 4.6, ङ्क्षछदवाड़ा 4.8, शिवपुरी, शाजापुर, सतना, उज्जैन एवं सिवनी में 5 तथा धार, रतलाम और गुना में 5.2, राजगढ़ 5.5, इंदौर 6.6, खंडवा 7 तथा होशंगाबाद में 8.4 डिग्री न्यूनतम तापमान अंकित हुआ है। हालांकि मध्यप्रदेश का एक मात्र पर्वतीय स्थल पचमढ़ी में न्यूनतम तापमान 1.2 डिग्री दर्ज हुआ है, लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि चूंकि पचमढ़ी ‘हिल स्टेशन’ है, इसलिए उसे प्रदेश के सामान्य शहरों में शामिल नहीं किया गया है।

यहां पाला गिरने की संभावना

प्रदेश के 6 संभागों में पाला गिरने की संभवना है। इनमें सागर, रीवा, शहडोल, ग्वालियर, चंबल एवं होशंगबाद संभाग के जिलों में पाला गिरने की संभावना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here