मोदी की टीम में ताकतवर होंगे एमपी के नेता, इनको मिल सकता है मौका

madhya-pradesh-leaders-will-strong-in-modi-cabinet-

भोपाल। लोकसभा चुनाव में इस बार फिर भाजपा को ऐतिहासिक जीत मिली है। 29 में से 28 सीट जीतने वाले मप्र का मोदी कैबिनेट में एक बार फिर दबदबा कायम रहने वाला है। मोदी कैबिनेट में इस बार प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह के अलावा पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार चौहान, पूर्व केंद��रीय मंत्री रहे प्रहलाद सिंह पटेल एवं रीति पाठक को भी मौका मिल सकता है। नरेन्द्र सिंह तोमर का केंद्र में और कद बढ़ेगा। वे मोदी कैबिनेट में शीर्ष 5 मंत्रियों में शामिल हो सकते हैं। 

भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह के नेतृत्व में प्रदेश में विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव हुए हैं। विधानसभा में पार्टी जीत नहीं पाई, लेकिन लोकसभा में मोदी लहर में भाजपा ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। राकेश सिंह वर्तमान में लोकसभा में सत्ता पत्र के मुख्य सचेतक भी हैं। उन्हें मोदी मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है, तब वे मप्र भाजपा अध्यक्ष से इस्तीफा देंगे। इसी तरह पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान सात बार से सांसद हैं। पिछले साल जब उन्हें अध्यक्ष्र पद से हटाया था,तब उन्हें केंद्र में मंत्री बनाए जाने की अटकलें थीं, लेकिन इस बार उनका मंत्री बनना लगभग तय माना जा रहा है। नरेन्द्र सिंह तोमर फिर कैबिनेट मंत्री के रूप में ताकतवर होंगे। पिछली बार उन्हें कैबिनेट मंंत्री बनाया गया तब उन्होंने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की कुर्सी छोड़ी थी। दमोह सांसद प्रहलाद पटेल भी इस बार मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं। पटेल अटल सरकार में राज्यमंत्री रहे हैं। महिला संासदों में से सीधी सांसद रीति पाठक को मोदी सरकार में राज्यमंत्री बनाया जा सकता है। जबकि आदिवासी सांसदों में से फग्गन सिंह कुलस्ते,  छतरसिंह दरबार या फिर जीएस डामोर में से किसी एक को राज्यमंत्री बनाया जा सकता है। वर्तमान में राज्यमंत्री वीरेन्द्र खटीक को फिर से मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। वर्तमान में मोदी कैबिनेट में मप्र से सुषमा स्वराज, नरेन्द्र सिंह तोमर, वीरेन्द्र खटीक, थावरचंद्र गहलोत मंत्री है। गहलोत राज्यसभा संासद है। जबकि उमा भारती, फग्गन सिंह कुलस्ते भी मोदी कैबिनेट में मंत्री रहे हैं। संभवत: नरेन्द्र मोदी अगले एक-दो दिन के भीतर प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। 

मप्र को मिला था ज्यादा तवज्जो

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पहले कार्यकाल में मप्र का दिल्ली में दबदबा रहा। पांच मंत्रियों के अलावा लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन भी मप्र से हैं। वर्तमान में मोदी सरकार में मप्र के खाते से चार मंत्री सुषमा स्वराज, नरेन्द्र सिंह तोमर, वीरेंद्र खटीक एवं थावरचंद्र गहलोत हैं। जबकि उमा भारती, फग्गन सिंह कुलस्ते, अनिल माधव दबे, एमजे अकबर एवं प्रकाश जावड़ेकर भी मप्र से मंत्री रहे हैं। अकबर वर्तमान में मप्र से राज्यसभा सांसद हैं, मी-टू आरेापों के बाद उन्हें पिछले साल मंत्रिमंडल से इस्तीफा देना पड़ा था। जावड़ेकर फिलहाल महाराष्ट्र से राज्यसभा सांसद हैं।