क्यों अपना नाम बदलना चाहते हैं ये अफसर

madhya-pradesh-sas-officer-niyaz-khan-want-to-change-his-name-

भोपाल| अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम पर लिखे गए उपन्यास को लेकर चर्चाओं में रहे राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी नियाज खान एक बार फिर सुर्खियों में हैं| इस बार भी उन्होंने खान सरनेम को लेकर अपनी पीड़ा जाहिर की है | उन्होंने ट्विटर पर लिखा है कि मैं अपनी पुस्तक “TALE OF A NOCTURNAL” के लिए और अपने लिए एक नया नाम ढूंढ रहा हूं ताकि मैं अपनी मुस्लिम पहचान छिपा सकूं। खुद को नफरत की तलवार से बचाने के लिए यह जरूरी है| 

दरअसल, लोक निर्माण और परिवहन विभाग के उपसचिव नियाज खान ने ट्विटर पर कई ट्वीट कर अपनी बात रखी है| उन्होंने लिखा “पिछले छह महीनों से मैं इस पुस्तक के लिए और अपने लिए एक नया नाम ढूंढ रहा हूं ताकि मैं अपनी मुस्लिम पहचान छिपा सकूं। खुद को नफरत की तलवार से बचाने के लिए यह जरूरी है, नया नाम मुझे हिंसक भीड़ से बचाएगा। अगर मेरे पास कोई टोपी, कोई कुर्ता और कोई दाढ़ी नहीं है, तो मैं आसानी से निकल सकता हूं, हालांकि, अगर मेरा भाई पारंपरिक कपड़े पहने हुए है, चूंकि कोई भी संस्थान हमें बचाने में सक्षम नहीं है, इसलिए नाम को स्विच करना बेहतर है” उन्होंने बॉलीवुड अभिनेताओं को भी सलाह देते हुए लिखा कि “मेरे समुदाय के बॉलीवुड अभिनेताओं को भी अपनी फिल्मों की सुरक्षा के लिए एक नया नाम ढूंढना शुरू करना चाहिए। अब तो टॉप स्टार्स की फिल्में भी फ्लॉप होने लगी हैं। उन्हें इसका अर्थ समझना चाहिए, मेरे लोगों के डर को भी इस प्रतीक्षित उपन्यास में जगह मिली है”|

बता दें कि इससे पहले भी अधिकारी ने उनके साथ एक सीनियर अफसर द्वारा किए गए दुर्व्यवहार की घटना को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर अपनी पढ़ा जाहिर करते हुए कहा था कि अपने खान सरनेम का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा है, ये भूत की तरह मेरे पीछे लगा है। सत्रह साल की नौकरी में उनके दस जिलों में उन्नीस बार ट्रांसफर हुए हैं। खान सरनेम होने के कारण उनसे ऐसा व्यवहार हुआ है। एक साल से उन्हें सरकारी मकान तक आवंटित नहीं हुआ है। नियाज का आरोप था कि मंत्रालय में उनके सीनियर अफसर ने बैठक के दौरान उनसे दुर्व्यवहार किया| जिसके बाद उन्होंने काफी सोचा और आखिरकार सोशल मीडिया पर अपने साथ हुए दुर्व्यवहार की घटना का जिक्र कर दिया|

तीन तलाक पर लिख चुके हैं उपन्यास 

नियाज अहमद खान  राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं| वे अब तक पांच पुस्तकें लिख चुके हैं। नियाज अहमद अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम और बॉलीवुड अदाकारा मोनिका बेदी की लव स्टोरी के दफन राज नाबेल काफी चर्चा में रहा था। उन्होंने तीन तलाक पर भी उपन्यास लिखा था। इसके बाद मुस्लिम समाज में भी उनका विरोध हुआ था। नियाज का कहना था कि नौकरी के दौरान मुस्लिम होने के चलते उन्हें क्या क्या झेलना पड़ा इसको लेकर वो अपनी किताब में लिखेंगे|