मध्य प्रदेश: सीएम ने इस योजना अंतर्गत ट्रांसफर किए 21 करोड़, 2 लाख से ज्यादा को मिलेगा लाभ

मध्य प्रदेश में कोरोना का विकट संकट है, पर सरकार व्यवस्थाओं में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी।

मध्य प्रदेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ((Shivraj Singh Chauhan)) ने आज ‘आहार अनुदान योजना’ (Aahaar Anudaan Yojana) अंतर्गत विशेष पिछड़ी जनजाति महिलाओं के लिए बैगा, भारिया तथा सहरिया जनजाति की 2 लाख 18 हजार 593 महिलाओं को 21 करोड़ 85 लाख 93 हजार रूपए की राशि अंतरित की।

यह भी पढ़े.. सियासत: संसद में बहुमत साबित नहीं कर पाए प्रधानमंत्री, देना होगा पद से इस्तीफा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना (Coronavirus) के कारण मैं अपनी विशेष पिछड़ी जनजाति की बहनों से प्रत्यक्ष नहीं मिल पा रहा हूँ। बहन-भाई की आज वर्चुअल मुलाकात हो रही है। मध्य प्रदेश में कोरोना का विकट संकट है, पर सरकार व्यवस्थाओं में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी। हर गरीब, मध्यम वर्ग का भी कोरोना का निजी अस्पतालों में फ्री इलाज किया जा रहा है। हर गरीब को सरकार 5 माह का नि:शुल्क राशन दे रही है। बहनों, किसी बात की चिंता मत करना, परन्तु पूरी सावधानी रखना।

यह भी पढ़े.. 7th Pay Commission: लाखों कर्मचारियों को जल्द मिलेगी खुशखबरी, डीए को लेकर बैठक जल्द

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गाँव से बाहर न जाएँ तथा गाँव में किसी व्यक्ति को आने न दें। यदि कोई व्यक्ति आता है तो पहले उसकी स्वास्थ्य जाँच हो तथा उसे कुछ दिन केलिए अलग रखा जाए। शादी-विवाह एवं कोई भी आयोजन नहीं करना है।आपके घर सर्वे दल आएगा, किसी को यदि सर्दी, जुकाम, बुखार, खाँसी आदि बीमारी हो तो छुपाएँ नहीं, बताएँ। दल आपको फ्री दवाई देगा और आप स्वस्थ हो जाएंगी। इस बीमारी को छुपाना जानलेवा हो सकता है।

बता दे कि मध्य प्रदेश सरकार (MP Government) इस योजना में विशेष पिछड़ी जनजाति की महिलाओं को प्रति माह एक-एक हजार रूपए की राशि पौष्टिक आहार के लिए दी जाती है। राशि का अंतरण हर माह की 10 तारीख तक महिलाओं के खातों में हो जाता है।यह योजना प्रदेश में सहरिया, भारिया एवं बैगा परिवारों को कुपोषण की समस्या से मुक्त करने के लिये विशेष पोषण के लिए संचालित की जा रही है।