कंपकंपाती ठंड के बीच बिगड़ सकता है मौसम, इन जिलों में बारिश के आसार

भोपाल| मध्य प्रदेश में ठंड के तेवर तल्ख़ हो गए हैं, दिन और रात में सर्दी कपकँपा रही है| इस बीच अब मौसम में परिवर्तन की संभावना बन रही है| मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि उत्तर भारत के करीब पहुंचे पश्चिमी विक्षोभ और तेलंगाना पर बने प्रेरित चक्रवात के कारण रविवार से हवा का रुख बदलने लगा है। इससे दिन और रात के तापमान में इजाफा होने लगा है। वहीं रविवार से आसमान पर बादल छाने लगे हैं|  मौसम के जानकारों का अनुमान है कि मध्‍यप्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिमी हिस्सों में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ हल्की बूंदाबांदी हो सकती है।

प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस खजुराहो, नौगांव, दतिया में दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों के वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और जम्मू कश्मीर के मध्य सक्रिय है। उसके प्रभाव से हवा का रुख बार-बार बदलने लगा है। इस वजह से रात के तापमान में बढ़ोतरी होने लगी है।  23 से 25 दिसंबर के बीच पूरे मध्यप्रदेश में उत्तर-दक्षिण की हवाओं में टकराव होगा। इससे बारिश के साथ ही कहीं-कहीं ओला वृष्टि की भी संभावना रहेगी।

इन जिलों में बारिश और ओले गिरने की संभावना 

23 से 26 दिसंबर को मध्‍य भारत के कई शहरों में मध्‍यम से तेज बारिश होने की संभावना है। यह बेमौसम बारिश लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन सकती है। मध्‍यप्रदेश में राजधानी भोपाल सहित गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, दतिया, भिंड, ग्वालियर, मुरैना, सतना, दमोह, उज्जैन, पन्ना, रीवा, सीधी, होशंगाबाद, जबलपुर आदि स्थानों पर बारिश और ओले गिरने की संभावना है। यह सिलसिला 26 दिसंबर तक चलने का अनुमान है। 

घना कोहरा छायेगा 

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि सोमवार से कई जगहों पर कोहरा छाया रहने की संभावना है। उत्तर भारत में हाल ही में जबरदस्त बर्फबारी हुई है। साथ ही वर्तमान में हवा का रुख लगातार उत्तरी बना हुआ है। ग्वालियर, चंबल, सागर और रीवा संभागो में घना कोहरा छाने के आसार बने हुए हैं।