छेड़छाड़ की वारदातों पर लगाम लगाने की मध्य प्रदेश ने की अनोखी पहल, छात्राओं को किया चिली स्प्रे भेंट

वाजिद खान | बैतूल

बैतूल: येे स्प्रे कर देगा बदहवास, मनचलों की कर देगा खटिया खड़ी, इसके इस्तेमाल से बालाएं अब कर सकेगी खुद की हिफाजत। जी हां। बिल्कुल ठीक पढ़ा आपने। महिलाओ और किशोरियों पर बढ़ते लैंगिक हमले और छेड़छाड़ की वारदातों पर लगाम लगाने मध्य प्रदेश के बैतूल में हिन्दू वाहिनी संगठन ने अनोखी पहल की है। संगठन की महिलाओ ने यहां स्कूली और कालेजो में पढ़ने वाली छात्राओं को चिली स्प्रे बांट कर छेड़छाड़ और दुष्कर्म जैसी शर्मनाक घटनाओं से बचने का तरीका सिखाया है। संगठन की कार्यकर्त्ताओ ने आज शहर के वीवीएम कॉलेज पहुचकर यहां छात्राओं को चिली स्प्रे भेंट किया।यह स्प्रे महिलाओ ने खुद अपने घरों में तैयार किया है। इसे बालिकाओं को बनाना भी सिखाया गया है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के पूर्व संगठन की कार्यकर्त्ताओ ने यहां पारमिता जनसेवा समिति की।मदद से संगोष्ठी का कार्यक्रम आयोजित कर महिलाओ और छात्राओं को छेड़छाड़ और लैंगिक हमलों से बचने के तरीकों पर विचार विमर्श के बाद छात्राओं को छोटी बोतलों में बन्द चिली स्प्रे बांटा। इस स्प्रे को आम मध्यम परिवार में मिलने वाली मामूली खाद्य सामग्री से तैयार किया गया है। स्प्रे को तैयार करने में चिली पावडर,पानी या गुलाब जल,थिनर ,तेल और काली मिर्च पावडर का इस्तेमाल किया गया है। जिसे मिक्स कर छोटी स्प्रे बोतलों में भरकर लड़किया,महिलाएं,छात्राएं अपने कास्मेटिक बैग में आसानी से रख सकती है। जिसे खतरा महसूस होने या किसी हमले के समय हमलावर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इस स्प्रे में।मौजूद तीखे तत्व हमलावर को कुछ देर के लिए बदहवास कर सकता है। जिसके बाद मौका पाकर कही भागा जा सकता है और मदद ली जा सकती है। छात्राओं ने इस प्रयोग को अपनाने में रुचि दिखाई है। उन्होंने सरकार से इस तरह के स्प्रे इजाद करने और लड़कियों के बीच निशुल्क बांटे जाने की हिमायत की है। संगठन की अध्यक्ष कविता मालवीय ने बताया कि संगठन इस स्प्रे को और अधिक प्रचारित करने पर काम कर रहा है। संगठन के कार्यकर्त्ता इसे तैयार कर स्कूली,कालेज की छात्राओं तक निशुल्क पहुचाने और उन्हें इसे तैयार करने का प्रशिक्षण भी दे रहा है।