MP News- नए साल से पहले मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया की बड़ी घोषणा

महेन्द्र सिंह सिसोदिया (Mahendra Singh Sisodia) ने कहा कि अब से पंचायत भवनों का नाम कुशाभाऊ ठाकरे और सामुदायिक भवन का नाम राजमाता सिंधिया के नाम से होगा।

महेन्द्र सिंह सिसौदिया

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) समर्थक और शिवराज सरकार (Shivraj Government) में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया (Mahendra Singh Sisodia) ने नए साल 2021 (New Year 2021) से पहले बड़ा ऐलान किया है। मंत्री ने कहा कि अब से पंचायत भवनों का नाम कुशाभाऊ ठाकरे और सामुदायिक भवन का नाम राजमाता सिंधिया के नाम से होगा। वही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि किसी भी प्रकार भ्रष्टाचार (Corruption) बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

यह भी पढ़े… मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया की पंचायत सचिव और रोजगार सहायकों को चेतावनी

दरअसल, विभागीय समीक्षा बैठक में मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया (Panchayat and Rural Development Minister Mahendra Singh) ने कहा कि प्रदेश में नवनिर्मित पंचायत भवनों (Panchayat Buildings) का नाम स्व. कुशाभाऊ ठाकरे (Kushabhau Thackeray) के नाम से और सामुदायिक भवनों (Community Buildings) का नाम स्व. राजमाता सिंधिया (Rajmata Scindia) के नाम से रखा जाये। शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन ठीक तरीके से हो, किसी भी प्रकार भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। भ्रष्टाचार करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

यह भी पढ़े… अधिकारी कर्मचारियों के लिए शिवराज सरकार का बड़ा ऐलान

सिसोदिया ने निर्देश दिए कि राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (State Rural Livelihoods Mission) ऐसा पोर्टल बनाए जिसमें स्व-सहायता समूह अपने उत्पादकों की ऑनलाइन मार्केटिंग (Online Marketing) कर सकें। मनरेगा के अधिकारी प्रतिदिन 4-5 हितग्राहियों से बात करें। मनरेगा के तालाबों का स्पाट वेरिफिकेशन करें। वृक्षारोपण के लिए पहाड़ियों को चिन्हित किया जावे। ग्राम पंचायत सचिव व ग्राम रोजगार सहायक (Gram Panchayat Secretary and Gram Employment Assistant) सप्ताह में दो दिवस सोमवार और गुरूवार को ग्राम पंचायत मुख्यालय पर उपस्थित रहकर ग्रामीणों को योजनाओं की जानकारी दे एवं ग्रामीणों की समस्याओं का निराकरण करें।