MP : वन विभाग की बड़ी सफलता, कुख्यात माफिया गिरफ्तार, टीम को इनाम की घोषणा

इतना ही नहीं प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख (Principal Chief Conservator of Forests and Chief of Forest Force)ने गिरफ्तार करने वाली टीम को प्रशंसा-पत्र और इनाम देने की भी घोषणा की है।

VAN VIBHAG

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में बेखौफ हो चुके वन माफियाओं (Forest mafia) के विरुद्ध शिवराज सरकार (Shivraj Government) का अभियान जारी है। आए दिन माफियाओं पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में वन विभाग (Forest department) ने 2 कुख्यात वन माफियाओं को गिरफ्तार (Arrest) किया है।इतना ही नहीं प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख (Principal Chief Conservator of Forests and Chief of Forest Force)ने गिरफ्तार करने वाली टीम को प्रशंसा-पत्र और इनाम देने की भी घोषणा की है।

यह भी पढ़े… MP News : शिवराज कैबिनेट में जल्द आएगा यह प्रस्ताव, विभाग ने तैयार किया मसौदा

दरअसल,  वन विभाग को कुख्यात वन माफिया को बुधवार को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है।  उप वन संरक्षक (वन्य प्राणी) रजनीश कुमार सिंह ने बताया कि स्पेशल टास्क फोर्स, वन्य प्राणी स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स (STSF) की भोपाल (Bhopal) और स्पेशल टास्क फोर्स (Special task force) द्वारा योजनाबद्ध तरीके से हरदा जिले (Harda district) के कांकरिया निवासी कुख्यात माफिया गोकुल बिश्नोई पिता और रामेश्वर बिश्नोई को पकड़ा गया।आरोपी गोकुल के खिलाफ प्रदेश के कई मंडलों में प्रकरण दर्ज हैं। इसके खिलाफ महाराष्ट्र और राजस्थान (Maharashtra And Rajasthan) में भी कई प्रकरण दर्ज हैं।

उल्लेखनीय है कि यह अवैध कटाई, अवैध व्यापार और अवैध शिकार का आरोपी था। इसे जिला मजिस्ट्रेट (District Magistrate) द्वारा जिला बदर भी किया गया था।पकड़ा गया आरोपी बैतूल, खंडवा, देवास, उज्जैन, सीहोर (Betul, Khandwa, Dewas, Ujjain, Sehore) एवं हरदा के जंगलों से विर्निदिष्ट वनोपज सागोन को काटकर प्रदेश के बाहर राजस्थान के जौधपुर, जयपुर (Jaipur), बांसवाड़ा और भीलवाड़ा में अवैध परिवहन एवं उसके व्यापार (Illegal transport and trade) में लिप्त था।