पुलिस विभाग में बड़ी सर्जरी जल्द, सालों से जमे अफसर हटेंगे

Major-surgery-in-offing-of-police-department-in-mp

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद ताबड़तोड़ तबादलों का दौर जारी है। हाल ही में 20 आईपीएस अफसरों के तबादले किए गए हैं। इनमें 6 जिलों के एसपी भी बदले गए हैं। अब गृह मंत्री बाला बच्चन ने बयान दिया है कि आईपीएस के बाद अब जल्द ही राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों का तबादला किया जाएगा। इनमें एसआई, एएसआई, सीएसपी और डीएसपी रैंक के पुलिस अफसर शामिल होंगे। 

दरअसल, सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आईपीएस अफसरों के साथ पुलिस मुख्यालय में बैठक कर इस बात के संकेत दिए थे कि अब लंबे समय से एक ही थाने में जमे पुलिसकर्मी नहीं रहेंगे। नई व्यवस्था लागू की जाएगी और क्षमता अनुसार पुलिसकर्मियों का उपयोग किया जाएगा। उनके इस बयान के बाद हड़कंप मच गया था। फिर तेजी से प्रशासनिक और आईपीएस अफसरों के तबादलों की लिस्ट जारी की गईं। अब राज्य पुलिस सेवा के अफसरों का नंबर है। गृह मंत्री बाला बच्चा ने एक साक्षात्कार में कहा कि हम पहले से ही कानून और व्यवस्था में सुधार की योजना पर काम कर रहे हैं। 15 साल की अराजकता के बाद अपराधों को रोकना एक बड़ी चुनौती है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि एक प्रमुख पुलिस ‘सर्जरी’ की आवश्यकता है। इनमें एएसआई, एसआई, इंस्पेक्टर और डीएसपी या सीएसपी- जो पिछले 15 वर्षों से एक स्थान पर काम कर रहे हैं। उन्हें नई पोस्टिंग दी जाएगी। लंबे समय से एक ही जगह जमा होने से समस्या होती है। 

कब होगी ये ‘सर्जरी’

गृहमंत्री ने कहा कि 26 जनवरी के बाद हम तैयार हैं इस सर्जरी को अंजाम देने के लिए। इस बड़े फेरबदल के लिए मैं मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा करूंगा। उसके बाद ही हम फेरबदल करेंगे। उन्होंने यह भी माना की प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखना चुनौती से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि 15 साल से चल रही खराब ढर्रे पर पुलिस व्यवस्था को ट्रैक पर लाने में थोड़ा समय लगेगा। बता दें कि प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर सरकार विपक्ष के निशाने पर है| सरकार भी यह जान रही है कि अधिकाँश मामलों में पुलिस की चूक और लापरवाही के चलते अपराध फल फूल रहा है, यह सालों से एक ही जगह जमे होने के चलते हो रहा है, इसलिए ऐसे अफसरों को बदलने के बाद ही सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता हो सकेगी|