लापरवाही पर बड़ा एक्शन, तहसीलदार-पटवारी सहित 5 BRC निलंबित, RI-बाबू पर भी कार्रवाई के निर्देश

वहीं निलंबन की कार्रवाई कलेक्टर द्वारा की जाएगी।

निलंबित

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में राज्य शासन द्वारा लापरवाह अधिकारी कर्मचारी (MP Officer-Employees) पर Suspended कार्रवाई का सिलसिला जारी है। राज्य शासन द्वारा लगातार नजर रखी जा रही है। खरगोन जिले के प्रभारी मंत्री कमल पटेल (Kamal patel) ने प्रवास के दौरान नायब तहसीलदार (Naib Tehsildar) वीरेंद्र कटारे और पटवारी (patwari) कबीर जाधव को तत्काल प्रभाव से निलंबित (suspended) करने के निर्देश दिए है। दरअसल गणतंत्र दिवस प्रभारी मंत्री और कृषि मंत्री कमल पटेल भीकनगांव और झिरन्या प्रवास पर थे।

इस दौरान उन्हें शिकायत मिलने के बाद उन्होंने भीकनगांव एसडीएम सीरानी जैन को झिरन्या के नायब तहसीलदार वीरेंद्र कटारे और पटवारी कबीर जाधव को सस्पेंड करने के निर्देश दिए हैं। इस मामले में एसडीएम का कहना है कि नायब तहसीलदार और पटवारी को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। वहीं निलंबन की कार्रवाई कलेक्टर द्वारा की जाएगी।

बड़वानी : वहीं दूसरी तरफ बड़ा मामला बड़वानी जिले से सामने आया है। जहां Corona की दूसरी लहर के दौरान सभी स्कूलों का संचालन बंद था तो प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में पौने दो करोड़ रुपए की निम्न गुणवत्ता की खेल सामग्री खफा दी गई थी। इस मामले में जनजातीय कार्य विभाग की जांच रिपोर्ट सामने आ गई है। जिसमें कमिश्नर की मुहर लगने के बाद कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने जिले के पांच विकासखंड के BRC को निलंबन के आदेश दे दिए हैं।

Read More: CBSE: 10वीं-12वीं टर्म 1 रिजल्ट सहित टर्म-2 परीक्षा पर आई बड़ी अपडेट, छात्रों के लिए जानना जरूरी

दो करोड़ रुपए की अमानत और निम्न गुणवत्ता की खेल सामग्री खरीदे जाने वाले मामले में प्रशासनिक अमले द्वारा जांच दल गठित करने के साथ दिन के जांच के आदेश जारी किए गए थे। जिसके बाद जांच रिपोर्ट सही पाए जाने के बाद कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने पांच विकास खंडों के बीआरसी को निलंबित कर दिया है। वहीं मामले में 2 माह पूर्व बड़वानी बीआरसी पर कार्रवाई की जा चुकी है।

उमरिया : वही एक मामला उमरिया जिले से सामने आया जहां शासकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के एवज में RI और तहसील कार्यालय बिलासपुर के एक बाबू को ₹50000 रिश्वत मांगने की शिकायत के बाद कलेक्टर द्वारा कार्रवाई की गई है। शिकायत के बाद कलेक्टर ने आर आई और बाबू को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इस मामले में मिली जानकारी के मुताबिक RI बैसाखू राम प्रजापति बांधवगढ़ में पदस्थ है।

वहीं 42 वर्षीय पुष्कर मिश्रा से अतिक्रमण हटाने की एवज में ₹50000 की मांग की गई थी। जिसके बाद पुष्कर मिश्रा द्वारा इस मामले में कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव से शिकायत दर्ज की गई। जिसके बाद कलेक्टर ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए आर आई और बाबू को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिए हैं।