कृषि बिल

भोपाल।
कोरोना संकटकाल (Corona Crisis) के बीच राज्यसभा और उपचुनावों (Rajya Sabha and by-elections) के पहले एक बार फिर प्रदेश की शिवराज सरकार(shivraj sarkar) ने किसानों (farmers) को बड़ी राहत दी है।सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) पर हो रही चना, मसूर और सरसों की खरीद को 29 जुलाई तक बढ़ा दिया है।पहले यह तिथि 15 जून तक रखी गई थी, लेकिन मौसम और कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने इसे आगे बढ़ाने का फैसला लिया है।कृषि मंत्री कमल पटेल ने किसानों से अपील की है कि वे अपनी फसल को घर में ही रखें। पंजीकृत किसानों से दाना-दाना खरीदा जाएगा।

दरअसल, 29 मई से खरीद शुरू की है, इसे 90 दिन तक चलाया जाएगा। कृषि विभाग ने खरीद की अंतिम तारीख 15 जून को आगे बढ़ाने का फैसला किया है।अब यह खरीदी 29 जुलाई तक होगी। अब खरीद सिर्फ एसएमएस देकर बुलाए जाने वाले किसानों से की जाएगी, ताकि भंडारण का इंतजाम भी साथ-साथ किया जा सके।

किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने आज चना, मसूर एवं सरसों के उपार्जन संबंधी समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि खरीदी का कार्य मण्डी शेड में ही किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जहाँ पर चना उपार्जन का कार्य अभी पूर्ण नहीं हुआ है, वहाँ उपार्जन कार्य जारी रखा जाये। उन्होंने कहा कि किसान अभी बारिश में चना लेकर न आएं। मंडी शेड और गोदामों में चना रखा गया है। भंडारण का और इंतजाम किया जा रहा है, इसलिए थोड़ा इंतजार करें। खुले मौसम में एसएमएस के जरिए उपज बेचने के लिए बुलाया जाएगा।

मूंग फसल के लिए 25 जून तक किसानों का पंजीयन

ग्रीष्मकालीन मूंग की फसल के लिए किसानों की पंजीयन प्रक्रिया 25 जून तक जारी रहेगी।पटेल ने धार कलेक्टर द्वारा 6 जून को खरीदी कार्य बंद करने पर नाराजगी जताई। उन्होंने इस संबंध में कलेक्टर से स्पष्टीकरण लेने के निर्देश दिये। परिवहन कार्य में लापरवाही बरतने वाले ट्रांसपोर्टरों से राशि काटने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन-जिन स्थानों पर परिवहन कार्य 72 घटे से अधिक देरी से प्रारंभ हुआ है, वहाँ अनिवार्य रूप से ट्रांसपोर्टरों से राशि काटी जाये। श्री पटेल ने बैठक में गत वर्ष प्रायवेट वेयर-हाउस पर बनाये गये खरीदी केन्द्रों, आधा प्रतिशत कमीशन राशि प्राप्त करने वाले वेयर-हाउस, वेयर हाउसों को दी गई राशि संबंधी समस्त जानकारी उपलब्ध कराये जाने के निर्देश प्रमुख सचिव, सहकारिता को दिये।