MP Board Exam: 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए परीक्षा पर आई बड़ी अपडेट, देखें यहां

MP Board में 10वीं में जहां अंग्रेजी के 10 अध्याय को कम किया गया है। वहीं हिंदी में भी 9 अध्यायों को पाठ्यक्रम से बाहर कर दिया गया है।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए परीक्षा कार्यक्रम की घोषणा कर दी है। स्कूल शिक्षा विभाग के अनुसार MP Board 10वीं और 12वीं की परीक्षा के लिए सैद्धांतिक परीक्षा 12 फरवरी, 2022 से शुरू होगी। परीक्षा 20 मार्च, 2022 तक जारी रहेगी। राज्य बोर्ड कक्षा 10 के लिए व्यावहारिक परीक्षाओं के कार्यक्रम की भी घोषणा करेगा। 12 जो 31 मार्च तक आयोजित किया जाएगा।

परीक्षा वर्ष 2021-22 के लिए कक्षा 10वीं, 12वीं की थ्योरी और प्रैक्टिकल परीक्षा, डिप्लोमा इन प्री-वोकेशनल स्कूल एजुकेशन (DPSE) और फिजिकल एजुकेशन ट्रेनिंग लेटर 12 फरवरी, 2022 से आयोजित किया जाएगा। MP Board ने भी इस साल परीक्षा पैटर्न में बदलाव की घोषणा की है। बोर्ड ने कहा था कि परीक्षा 30 प्रतिशत कम किए गए पाठ्यक्रम पर आयोजित की जाएगी। इसके अलावा, उत्तर की लंबाई को कम रखने के अलावा हर परीक्षा में कम से कम 30 प्रतिशत एमसीक्यू होंगे। इसलिए, यह कहना सुरक्षित है कि आगामी बोर्डों में कोई लंबे समय के प्रश्न नहीं होंगे। छात्रों को 125-150 शब्दों में उत्तर लिखने होंगे और प्रत्येक प्रश्न के लिए निर्धारित उच्चतम अंक चार (4) होंगे।

एमपीबीएसई की संशोधित अंकन योजना के अनुसार, सैद्धांतिक विषयों के लिए 80 अंक आवंटित किए जाएंगे, जबकि शेष 20 अंक कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए व्यावहारिक और परियोजना कार्यों के लिए आवंटित किए जाएंगे।इसके अलावा इस साल 6 माह में करीब 140 दिन कक्षाएं संचालित की जाएंगी जबकि सामान्य शिक्षा सत्र में स्कूलों में 230  दिन तक कक्षाएं संचालित की जाती है वही कम कक्षा लगने की वजह से माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा एमपी बोर्ड परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम में भी 37 फीसद की कटौती पर भी विचार किया गया है। इसके लिए परीक्षा के पैटर्न को भी बदला गया है।

बता दें कि माध्यमिक शिक्षा मंडल ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही साथ कटौती किए गए पाठ्यक्रम के बाद विस्तृत ब्लूप्रिंट वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। छात्र MP Board की वेबसाइट से पाठ्यक्रम को डाउनलोड कर सकते हैं। बता दें कि कक्षा 9वीं से 12वीं तक के पाठ्यक्रम में हुए कटौती के बाद इसे वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। जहां अलग-अलग पाठ्यक्रम में अलग-अलग कटौती शामिल है। MP Board में 10वीं में अंग्रेजी के 10 अध्याय को कम किया गया है। वहीं हिंदी में भी 9 अध्यायों को पाठ्यक्रम से बाहर कर दिया गया है।

Read More: आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए गाइडलाइन जारी, हितग्राहियों को ऐसे मिलेगा लाभ

इसके अलावा 10वीं के गणित में भी 10 अध्याय को कम किया गया जबकि विज्ञान में 6 अध्याय कम कर दिए गए हैं।10वीं के सामाजिक विज्ञान की बात किया जाए तो इस विषय में भी 10 पाठ कों पाठ्यक्रम से हटाया गया है। साथ ही 12वीं के हिंदी में 7 अध्याय कम कर दिए गए हैं। 12वीं के विज्ञान में 17 पाठ को पाठ्यक्रम से अलग कर दिया गया है। जबकि गणित सहित जीव विज्ञान में भी कई पाठ को पाठ्यक्रम से अलग किया गया है।

मामले में माध्यमिक शिक्षा मंडल के उप सचिव प्रियंका गोयल का कहना है कि corona काल में स्कूल काफी कम दिनों तक संचालित किए गए हैं। जिसके बाद विषय समिति के विशेषज्ञ द्वारा यह निर्णय लिया गया। साथ ही विषयों से पाठ को हटाया गया है। हालांकि कुछ विषय में किसी भी प्रकार की कटौती नहीं की गई है जबकि आवश्यकता अनुसार विषयों के पाठ्यक्रम से पाठ कों कम किया गया है।

बोर्ड भारतीय संगीत विषय के तहत इस शैक्षणिक सत्र के लिए कक्षा 9 और 11 के छात्रों के लिए गायन और तबला पखवाज दो अलग-अलग प्रश्न पत्र भी लेकर आया है। ये दोनों पेपर कक्षा 10 और 12 के लिए शैक्षणिक सत्र, जो कि 2022-23 है, से जोड़े जाएंगे। जो छात्र अधिक विवरण-परीक्षा पैटर्न, परीक्षा तिथि पत्र की जांच करना चाहते हैं, वे एमपीबीएसई के आधिकारिक पोर्टल पर जा सकते हैं।

पिछले साल, परीक्षा आयोजित नहीं की गई थी और छात्रों को विशेष मानदंडों की मदद से पदोन्नत किया गया था। 2019 में, 68.18 प्रतिशत छात्रों ने सफलतापूर्वक परीक्षा पास की थी। 3.5 लाख से अधिक छात्रों ने प्रथम श्रेणी, 3 लाख से अधिक छात्रों ने द्वितीय श्रेणी और 1.5 लाख ने तृतीय श्रेणी प्राप्त की।