MP Board – अब मीरा का पद और बसंत गीत नहीं होंगे पाठ्यक्रम में, सिलेबस में 30 फीसदी तक कटौती

MP-BOARD-distribution-of-10th-12th-marksheet

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश शिक्षा मंडल  (Madhya Pradesh Board of Secondary Education) की 12वीं से हिंदी में बसंत गीत और 10वीं से मीरा के पद सहित आठ से 10 पाठ हटा दिए गए है। कोरोना (corona) के चलते माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं व 12वीं में 20 से 30 फ़ीसदी कोर्स की कटौती कर वेबसाइट पर अपलोड कर दी है। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 (Academic session 2020-21) बोर्ड परीक्षा (Board exam) के लिए 10वीं व 12वीं के सिलेबस में कटौती कर दी है।

यह कटौती विषय के महत्व के हिसाब से 20 से 30 फ़ीसदी तक की गई है। इसमें 9वीं व 11वीं में पढ़ चुके कुछ पाठ्यक्रम (course) को 10वीं व 12वीं से हटाया गया है। जिन विषयों में कटौती की गई है उसके सिलेबस को मंडल (MP Board) की वेबसाइट पर अपलोड कर दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। जहां 12वीं के हिंदी में से कवि गोपाल सिंह नेपाली के ‘भाई-बहन’, सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का ‘बसंत गीत’, डॉक्टर शिव प्रसाद सिंह का ‘रंगोली’, लेखक जितेंद्र कुमार का ‘कहानी खेल’ आदि कई लेखकों व कवियों के पाठ को हटाया गया है। वहीं अंग्रेजी, संस्कृत, भौतिक, रसायनशास्त्र, गणित, जीव विज्ञान सहित सभी विषयों में से दो से तीन सेक्टरों को कम किया गया है।

उधर दसवीं में ‘मीरा के पद’ और दुष्यंत कुमार की कविता ‘इस नदी की धार’ में सहित कई लेखकों व कवियों के पाठ को हटा दिया गया है। मंडल के अधिकारियों का कहना है कि इसमें खासतौर से नवमी में पढ़ चुके पाठ्यक्रम को 10वीं से हटाया गया है। जबकि 11वीं में पढ़ चुके कुछ पाठ्यक्रम की यूनिटों को 12वीं के विषय में हटाया गया है। सिलेबस में कटौती प्रतियोगी परीक्षा को ध्यान रखते हुए भी की गई है। ज्ञात हो कि प्रदेश में कोविड-19 के चलते अभी तक स्कूल नहीं खोले गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here