मप्र उपचुनाव पर लगा ग्रहण! HC ने चुनाव आयोग से मांगा जवाब, 8 सितंबर को अगली सुनवाई

HC

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनावों (Municipal election 2021) की तरह 3 सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर संकट के बाद मंडराते हुए नजर आ रहे है।कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए उपचुनावों (MP By-election 2021) को टालने की मांग की गई है, इसके लिए जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur Highcourt) में याचिका लगाई गई थी, जिस पर आज सुनवाई हुई है। हाईकोर्ट ने भारत निर्वाचन आयोग से जवाब मांगा है।इस मामले में अगली सुनवाई 8 सितंबर को होगी।यह याचिका नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के डॉ. पीजी नाजपांडे और रजत भार्गव की ओर से दायर की गई है।

यह भी पढ़े.. MP Weather: मप्र का फिर बदला मौसम, कई जिले अब भी प्यासे, आज इन जिलों में बौछार

दरअसल, मध्यप्रदेश की एक लोकसभा और तीन विधानसभा में होने वाले उपचुनाव को लेकर मध्यप्रदेश हाई कोर्ट में नागरिक उपभोक्ता मंच ने 16 अगस्त 2021 को एक जनहित याचिका दायर की थी। याचिका में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए हाल में उपचुनाव टालने की मांग की थी, जिस पर आज मध्यप्रदेश हाई कोर्ट ने सुनवाई करते हुए भारत निर्वाचन आयोग से जवाब मांगा है। हाई कोर्ट में याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा है कि आप इस पूरे मामले में लिखित में जवाब पेश करें।अगली सुनवाई 8 सितंबर को होगी।निकाय चुनाव रोकने लेकिन उपचुनावों की तैयारी को विरोधाभास बताकर यह याचिका दायर की गई है।

नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच ने 16 अगस्त 2021 को मध्यप्रदेश हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर कर कोर्ट को बताया गया था कि कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग (state election commission) ने नगरीय निकाय चुनाव को अभी स्थगित कर दिया है ऐसे में भारत निर्वाचन आयोग को भी अभी चुनाव टाल देना चाहिए क्योंकि कभी भी कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। याचिका में कहा गया है कि राज्य चुनाव आयोग की अंडरटेकिंग की तर्ज पर लोकसभा और विधानसभा के उपचुनाव को लेकर निर्णय किया जाए।  याचिका पर सुनवाई करते हुए भारत निर्वाचन आयोग से जवाब माँगा है। हाई कोर्ट ने कहा है कि आप लिखित में जवाब पेश करें, अब इस मामले में अगली सुनवाई 8 सितंबर को की जाएगी।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों को अगले महिने मिलेगी गुड न्यूज! बढ़ेगा महंगाई भत्ता, सैलरी में होगा इजाफा

नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के डॉ. पीजी नाजपांडे और रजत भार्गव की ओर से दायर याचिका में अधिवक्ता दिनेश उपाध्याय  ने कहा कि प्रदेश की खंडवा लोकसभा और पृथ्वीपुर, जोबट और राजगढ़ विधानसभा के उपचुनाव जल्द कराए जाने की संभावना है। राज्य चुनाव आयोग ने हाईकोर्ट में स्थानीय अंडरटेकिंग दी है कि कोरोना की तीसरी लहर की जमीनी हकीकत का आंकलन कराने के बाद ही स्थानीय निकाय चुनाव कराए जाएंगे। अगली सुनवाई 8 सितंबर को होगी।

बता दे कि मध्यप्रदेश भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और खण्डवा-बुरहानपुर से सांसद रहे नंदकुमार चौहान के देहांत के बाद यह सीट खाली हो गई है जिस पर की उपचुनाव होना है इसके अलावा प्रदेश की तीन विधानसभा पृथ्वीपुर, जोबट और राजगढ़ सीट खाली है, जिन पर उपचुनाव होने है, लेकिन इससे पहले इस साल उपचुनावों पर ग्रहण लगता नजर आ रहा है।

यह भी पढ़े.. MP Board :10वीं-12वीं विशेष परीक्षा से पहले छात्रों के लिए बड़ी खबर, पढ़ लें यह नियम