भोपाल| ग्वालियर| प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ग्वालियर में स्वछता अभियान चला रहे हैं| इस अभियान में वह खुद अलग अलग स्थानों, सड़कों पर सफाई करते नजर आये| अभियान के पांचवे दिन मंत्री एक बार फिर नाले में उतर गए और कमर तक कीचड़-गंदगी में डूबे मंत्री ने पावड़े से गंदगी को निकाला और जाम नाला खोला| मंत्री का सफाई अभियान जहां प्रदेश भर में सुर्ख़ियों में है, वहीं सफाई को लेकर जिम्मेदारों पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं, आखिर ऐसी नौबत क्यों बन रही है कि मंत्री को नाले में उतरना पड़ रहा है| 

सफाई अभियान को लेकर मंत्री तोमर का कहना है कि वे अभी किसी आरोप प्रत्यारोप, आलोचना में नहीं पढ़ना चाहते, जिम्मेदार अगर काम नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ जरूर एक्शन होगा| लेकिन यह मेरा कर्त्तव्य है कि मेरा शहर साफ़ हो और इसीलिए इस अभियान में जुटा हूँ, दिल्ली में प्रदुषण से जिस तरह के हालात बने हैं ऐसे हाल यहां न हो इसलिए सभी को जागरूक होना पड़ेगा| स्वछता को लेकर सभी अपना योगदान दें| 

बता दें कि स्वच्छता अभियान को एक मिशन के रूप में 30 दिन तक चलाने की घोषणा करने वाले प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पिछले पांच दिनों से लगातार हाथ में झाड़ू थामे शहर को साफ़ करने में जुटे हैं। वे अपनी विधानसभा में इस अभियान को चला रहे हैं। शनिवार को मंत्री समर्थकों के साथ रेलवे स्टेशन पहुंचे और उन्होंने जहाँ गंदगी दिखी वहां झाड़ू लगना शुरू कर दिया। मंत्री की मौजूदगी की जानकारी मिलते ही स्टेशन मैनेजर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी तत्काल वहां पहुंचे । मंत्री ने रेलवे अफसरों को देखकर उनके हाथ जोड़े और पैर छूकर कहा कि मैं चाहता हूँ कि आप स्टेशन परिसर को साफ़ रखें जिससे यहाँ आने वाले लोग साफ हवा में सांस ले सकें। सफाई अभियान के दौरान मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने स्टेशन परिसर का शौचालय भी अपने हाथ से साफ किया।  इससे पहले बुधवार को भी मंत्री ने नाले में उतर कर सफाई की थी| सवाल यह भी खड़े हो रहे हैं कि नगर निगम का अमला आखिर क्यों सफाई नहीं कर पा रहा है| 

मंत्री जयवर्धन कर चुके हैं तारीफ

खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के स्वच्छता अभियान की तारीफ प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह भी कर चुके हैं। शुक्रवार को ग्वालियर दौरे के दौरान मंत्री जयवर्धन ने कहा था कि मंत्री तोमर सफाई कर एक उदाहरण पेश कर रहे हैं हम सबको मिलकर उनके प्रयास को सफल बनाना है।