MP Corona:आज फिर 15 पॉजिटिव, 31 दिन में 504 नए केस, इन जिलों ने बढ़ाई चिंता, सरकार अलर्ट

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 15 नए केस आए हैं, वही 14 स्वस्थ होकर घर लौटे है, जिसके बाद प्रदेश में कुल एक्टिव केस‌ों की संख्या 182 हैं।

mp corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ नेशनल कोरोना सुपरमॉडल कमेटी ने भविष्यवाणी की है कि कोरोना की तीसरी लहर (Corona Third Wave) अगले साल फरवरी 2022 में भारत में आने की संभावना है।वही दूसरी तरफ मध्य प्रदेश में कोरोना एक्टिव की संख्या 182 हो गई है। आज 19 दिसंबर 2021 को 15 नए कोरोना पॉजिटिव (MP Corona Update) सामने आए है, जिसके बाद संक्रमण दर 0.3 फीसदी पहुंच गई है। राहत भरी खबर ये है कि 14 मरीज स्वस्थ होकर घर पहुंचे और रिकवरी रेट 98% के पार बना हुआ है।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों को जल्द मिलने वाली है खुशखबरी! सैलरी में आएगा बंपर उछाल, बकाया DA Arrears पर नई अपडेट

एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (MP Home Minister Narottam Mishra) ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 15 नए केस आए हैं, वही 14 स्वस्थ होकर घर लौटे है, जिसके बाद प्रदेश में कुल एक्टिव केस‌ों की संख्या 182 (MP Corona Active Case) हैं।वर्तमान में कोरोना संक्रमण दर 0.3 फीसदी और रिकवरी रेट 98.60 फीसदी है। शनिवार को प्रदेश में 59,494 सैंपल लिए गए।ओमिक्रोन को लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह सतर्क है।हम प्रदेशवासियों को आश्वस्त करना चाहते हैं कि प्रदेश में कोरोना की संभावित तीसरी लहर को रोकने के हरसंभव प्रयास किए जाएंगे।

नए केसों में भोपाल में 5, इंदौर में 6, सागर 3 और सिवनी में 1 केस मिला है।इंदौर में अब तक ब्रिटेन, अमेरिका, UAE और नाइजीरिया से लौटे 6 लोग भी संक्रमित आए हैं।चिंता की बात ये है कि सागर में एक 35 साल के युवा की कोरोना से मौत भी दर्ज की गई है। पिछले 31 दिन में MP में 504 संक्रमित मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा भोपाल में 206 और इंदौर में 187 मरीज मिले हैं।प्रदेश में अब तक 7 लाख 93 हजार 482 लोग कोरोना संक्रमित और 7 लाख 82 हजार 771 लोग ठीक हो चुके हैं। कोरोना के कारण 10 हजार 529 की जान चुकी है।वर्तमान में भोपाल में एक्टिव केस 62 और इंदौर में 70 के आसपास है।

यह भी पढ़े.. MP Assembly 2021: सोमवार से शीतकालीन सत्र, विधायक दल की बैठक में बनेगी रणनीति, हंगामे के आसार

इधर, शनिवार को बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने निर्देश दिए है कि ओमिक्रॉन के केस मध्यप्रदेश में अभी नहीं हैं, लेकिन अन्य राज्यों की स्थिति देखते हुए प्रदेश में कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने की पूरी तैयारी रखें, जिससे लहर आने का खतरा न हो। हर जिले की कार्य-योजना बनाएँ, जिससे वहीं पर मरीजों का उपचार हो सके। जिलेवार सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में बिस्तरों की मैपिंग कर ली जाये। हर जिले में एक माह के लिए दवाओं एवं आवश्यक सामग्रियों का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध है। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना में इन्पैल्ड अस्पतालों के अनुबंध को 1 जनवरी से 31 मार्च 2022 तक बढ़ाया जायेगा।

हम रिस्क नही ले सकते, प्रभारी मंत्री बैठक करें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ब्रिटेन में बड़ी संख्या में कोरोना के प्रकरण बढ़ रहे हैं। इसी तरह अन्य देशों एवं भारत के कुछ राज्यों में भी कोरोना के प्रकरण लगातार बढ़ रहे हैं। यह सही समय है हमें सावधान रहने का। सभी व्यवस्थाएँ चाक-चौबंद रहें। सभी प्रभारी मंत्री एवं प्रभारी अधिकारी अपने-अपने जिलों में तैयारी बैठक करें। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी के साथ बैठकें हो जायें। हर व्यवस्था पर नजर रखें। कलेक्टर समन्वय बनाये।कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए हम प्रदेश में कोई भी रिस्क नहीं ले सकते। पिछली बार जो हानि हुई उसे दोबारा नहीं दोहराना चाहते हैं। हर परिस्थिति के लिए हम तैयार रहें। लोगों को कोरोना टेस्ट करवाने के लिए निरन्तर प्रेरित किया जाये।