कहां-क्या स्तिथि, दिल्ली में मंथन, आलाकमान ने लिया हर सीट का फीडबैक

12661
mp-election-after-voting-high-command-take-feedback-on-every-seat-

भोपाल| मतदान के बाद अब सबकी नजर चुनाव परिणाम पर है| 11 दिसम्बर को मतगणना होगी और दोपहर तक यह तय हो जाएगा प्रदेश में किसकी सरकार होगी| फिलहाल सभी राजनीतिक दल अपनी जीत का दावा कर रहे हैं|   वहीं मतदान खत्म होते ही भाजपा-कांग्रेस के दिग्गज अब दिल्ली से रणनीति बनाने में जुट गए हैं। एक एक सीट का फीडबैक आलाकमान प्रदेश के नेताओं से जुटा रहे हैं|

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने भाजपाध्यक्ष अमित शाह को वोटिंग का फीडबैक दिया। वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी गुरुवार को दिल्ली पहुंचे। तीनों ने वहीं से फोन पर जिलों में मतदान का फीडबैक लिया। अब मतगणना की तैयारी में पार्टी जुट गई है| नाथ ने कांग्रेस के सभी प्रत्याशियों को 6 दिसंबर को भोपाल बुलाया है। पार्टी नेता यहीं आगे की रणनीति बनाएंगे। इस बैठक में सभी प्रत्याशियों को मतगणना वाले दिन के लिए तैयार किया जाएगा, जिस तरह कांग्रेस ईवीएम मशीनों पर सवाल उठा चुकी है, मतगणना में कोई गड़बड़ी न हो इसके लिए प्रत्याशियों को कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए जाएंगे|   

प्रदेश में 74.85 प्रतिशत मतदान

चुनाव आयोग ने बताया कि मतदान का प्रतिशत 74.85 रहा। अनूपपुर के मोहड़ी पोलिंग बूथ पर फिर से वोटिंग कराने की सिफारिश की गई है। बता दें यहां जितने मत डाले गए उनमें और रजिस्टर में हुए हस्ताक्षर में 56 वोटों का अंतर मिला है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि यहां रिपोलिंग होगी या नहीं इस पर फैसला बाद में होगा।

 

फुरसत के पल में भी सियासी चर्चा  

वोटिंग के बाद सभी प्रत्याशी, कार्यकर्ता और दिग्गज नेता अपनी चुनावी थकान मिटाते नजर आये| प्रचार में अंतिम समय तक पूरी ताकत झोंकने वाले नेता कई रातों से सोये नहीं, मतदान के बाद सभी ने अपनी नींद पूरी की| वहीं फुर्सत के पलों में कोई परिवार के साथ वक्त बिता रहा है तो कोई अपने समर्थकों के साथ बैठक कर रहा है| पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह इंडियन कॉफी हाउस पहुंचे| दिग्विजय सिंह ने मीडिया से चर्चा में कहा कि मैंने चुनाव अभियान से खुद को बाहर रखा क्योंकि मुझसे मप्र में हस्तक्षेप नहीं करने के लिए कहा गया था। उन्होंने दावा किया कि पार्टी 126 से 132 सीटें जीतेगी। वहीं मतदान के बाद गुरूवार को कांग्रेस प्रत्याशी और दिग्गज नेता आरिफ अकील ने पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर से मुलाकात की और आशीर्वाद लिया| इस दौरान गौर ने उन्हें जीत की बधाई दे दी और कहा कि कांग्रेस की सरकार आ रही है और आप मंत्री बनने वाले हो| वहीं उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस मदद नहीं करती तो टिकट नहीं मिलता| दो दिग्गज नेताओं की मुलाकात चर्चा का विषय बनी हुई है| 

दिल्ली में मंथन, आलाकमान ने लिए हर सीट का फीडबैक 

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में सन्नाटा पसरा रहा, लेकिन प्रदेश की सियासी हलचल दिल्ली में दिखाई दी| कमलनाथ, सिंधिया, दिग्विजय दिल्ली पहुंच गए। नाथ ने वहीं से फोन पर फीडबैक लिया।  सिंधिया ने भी कई प्रत्याशियों को फोन कर फीडबैक लिया। नाथ 6 दिसंबर को भोपाल में सभी 230 प्रत्याशियों के साथ बैठक करेंगे। वहीं नरेंद्र सिंह तोमर और राकेश सिंह ने शाह और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल को मालवा-निमाड़, विंध्य व महाकौशल की क्षेत्रवार रिपोर्ट दी।  प्रदेश संगठन ने केंद्रीय नेतृत्व को भरोसा दिलाया गया कि बढ़ी हुई ढाई फीसदी वोटिंग से नुकसान नहीं है। वहीं केंद्रीय नेतृत्व भी जानकारी जुटा रहा है।पार्टी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह 11 दिसंबर को मतगणना से पहले तमाम प्रत्याशियों की बैठक बुला सकते हैं। मालवा-निमाड़ की जानकारी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से ली गई। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here