MP: बिजली वितरण कंपनी की बड़ी तैयारी, साढ़े 4 लाख से अधिक उपभोक्ताओं को मिलेगा लाभ

सीएम शिवराज द्वारा उपभोक्ताओं की समस्याओं के जल्द निराकरण के निर्देश दिए गए थे और तत्काल इस पर कार्रवाई अमल करने के भी निर्देश प्रेषित किए थे।

बिजली उपभोक्ता

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) बिजली वितरण कंपनी (MP electricity distribution company) द्वारा राजधानी भोपाल के उपभोक्ताओं (consumers) को बड़ी राहत दी गई है। दरअसल बिजली कंपनी ने राजधानी से सटे कजलीखेड़ा और बोरदा को नया बिजली केंद्र (new power station) स्थापित किया है। जिसका फायदा इससे जुड़े आसपास के इलाकों के ग्रामीण उपभोक्ताओं को होगा।

इस मामले मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के वरिष्ठ प्रकाशक मनोज द्विवेदी का कहना है कि भोपाल और वित भोपाल को पुनर्गठित किया गया है। शहर वित भोपाल के अंदर आने वाले कोलार को शहर संभाग बनाया गया है। इसके साथ ही बैरागढ़, सिटी जोन, मिसरोद, डाउन जोन के कार्यक्षेत्र को इसमें शामिल किया गया है। वहीं इलाकों में नया बिजली केंद्र स्थापित होने से इसके उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिलेगी।

Read More : मध्य प्रदेश ने बनाया एक और रिकॉर्ड, इस योजनांर्गत खुलवाए 23 लाख खाते

इसके अलावा कोलार के शहरी इलाकों पर ज्यादा दबाव न पड़े। इसलिए तो केंद्र का निर्माण किया गया। अब ग्रामीण इलाकों के साथ-साथ कोलार के शहरी क्षेत्र में भी बिजली वितरण का दबाव कम होगा। साथ ही वोल्टेज की समस्या का भी उपभोक्ताओं को सामना नहीं करना पड़ेगा।

इसके अलावा भोपाल वृत में रातीबड़ उप संभाग के अधीन कार्य कजलीखेड़ा और बागरोदा को नया वितरण केंद्र बनाया गया है। इस मामले में उर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का कहना है कि उपभोक्ताओं की सहूलियत को देखते हुए प्रदेश में जहां जरूरत होगी, वह नए केंद्र खोले जाएंगे। आपूर्ति प्रभावित न हो इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा। अभी राजधानी भोपाल में यह शुरुआत की गई है। जल्द स्थितियों का आकलन कर इसे अन्य जिलों में भी लागू करेंगे।

बता दें कि बीते दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश के विभिन्न विभागों के साथ बैठक की गई थी। जिसमें विभिन्न विभागों के साथ बैठक करते हुए उन्होंने बिजली विभाग से उपभोक्ताओं की संतुष्टि की बात कही थी। इस दौरान सीएम शिवराज द्वारा उपभोक्ताओं की समस्याओं के जल्द निराकरण के निर्देश दिए गए थे और तत्काल इस पर कार्रवाई अमल करने के भी निर्देश प्रेषित किए थे।