MP Flood: सीएम शिवराज ने बुलाई हाई लेवल बैठक, मंत्रियों-अधिकारियों को दिए ये निर्देश, PM मोदी से भी की चर्चा

सीएम शिवराज ने कहा कि कई जगह खंबे टूटे हुए है, ट्रांसफार्मर डूबे हुए है, इन्हे ठीक करने युद्ध स्तर पर जुटें। अनेक स्थानों पर सड़क इन्फ्रास्ट्रक्चर, पुल पुलिया टूटे है, बह गए है इन्हे ठीक करने के लिए जुटे ।

शिवराज सरकार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज बुधवार 24 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से में फोन पर चर्चा की और मध्यप्रदेश में विगत दिनों हुई अतिवृष्टि और इससे उत्पन्न बाढ़ और जल भराव की विस्तृत जानकारी दी । सीएम ने बेतवा नदी में आई बाढ़ से प्रभावित हुए विदिशा जिले के क्षेत्रों के बारे में बताया, उन्हे रेस्क्यू ऑपरेशन और राहत कैंपों की जानकारी दी ।वही अतिवृष्टि से प्रभावित जिलों रायसेन, गुना, राजगढ़, सागर ,भोपाल सहित अन्य स्थानों की जानकारी से प्रधानमंत्री जी को अवगत कराया । सीएम ने आर्मी, एनडीआरएफ की तुरंत मदद पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया ।

यह भी पढ़े.. नवरात्रि से पहले लाखों कर्मचारियों को मिलेगा तोहफा! 96 हजार तक बढ़ेगी सैलरी, जानें ताजा अपडेट

इधर, सीएम शिवराज सिंह ने मुख्यमंत्री निवास पर आज हाई लेवल बैठक बुलाई गई है, इसमें मंत्री तुलसी सिलावट, संबंधित विभागो के प्रमुख सचिव सहित आला अधिकारी मौजूद है। सीएम ने प्रभावित क्षेत्रों में नदियों के जलस्तर, बांधो की जानकारी की समीक्षा की और पानी उतरने के बाद क्षेत्रों में सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने और युद्ध स्तर पर काम करने, पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने और बिजली आपूर्ति बहाल के निर्देश दिए है।

सीएम शिवराज ने कहा कि कई जगह खंबे टूटे हुए है, ट्रांसफार्मर डूबे हुए है, इन्हे ठीक करने युद्ध स्तर पर जुटें। अनेक स्थानों पर सड़क इन्फ्रास्ट्रक्चर, पुल पुलिया टूटे है, बह गए है इन्हे ठीक करने के लिए जुटे ।बीमारी न फैले, इसके लिए दवा छिड़काव से लेकर साफ सफाई को युद्ध स्तर पर करने के निर्देश दिए। मेडिकल टीम गठित कर गांव गांव और शहर पहुंचकर , आवश्यक दवाएं बांटने के लिए विभाग जुटें। संकट से पार निकालकर ले जायेंगे।

यह भी पढ़े.. MPPSC 2019: उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर, डेंटल सर्जन परीक्षा के कट ऑफ मार्क्स घोषित, देखें यहां

सीएम ने कहा कि युद्ध स्तर पर जुटकर फसलों का नुकसान, मवेशियों का नुकसान का आकलन कर रिपोर्ट प्रस्तुत करे। ये चुनौतियां है, हम सभी टीम बनाकर लोगो की मदद के लिए आज से लगे ।जो भी अतिरिक्त अमला लगना है, विभाग समीक्षा कर आज से ही प्रभावित क्षेत्रों में भेजे मैन पावर, मशीन जो भी लगना है लगाए। प्रभावित क्षेत्रों में दवा वितरण, भोजन वितरण सहित अन्य आवश्यक सामग्री की व्यवस्थाएं सुनिश्चित करे आरबीसी 6(4) के अंतर्गत जो भी नुकसान का सर्वे कर सहायता करनी है उसे करेंगे । इसके अतिरिक्त जो भी मदद और करनी है उसे भी किया जाएगा ।