आतंकवादियों के रडार पर BJP के पूर्व मंत्री, केन्द्र ने दी Y श्रेणी की सुरक्षा

ग्वालियर।अतुल सक्सेना। पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया को सरकार ने Y श्रेणी सुरक्षा प्रदान की है। पवैया की छवि
कट्टर हिंदुवादी राजनेताओ में होती है उनके निशाने पर हमेशा पाकिस्तान और आतंकवादी संगठन होते हैं। इसलिए उनकी जान को आतंकवादियों से खतरा बना रहता है। बाबरी विध्वंस और अमरनाथ यात्रा के समया से ही पवैया हिजबुल के रडार पर हैं।

गौरतलब है कि पूर्व मंत्री एवं पूर्व सांसद जयभान सिंह पवैया बजरंग दल के राष्ट्र प्रमुख भी रहे हैं और इस पद पर रहते हुए 1992 में बाबरी विध्वंस आंदोलन की अगुआई कर चुके हैं। तभी से आतंकवादियों के निशाने पर हैं। वे बाबरी विध्वंस मामले में प्रमुख आरोपी है । पवैया ने 1996 में करीब 50,000 लोगों के साथ अमरनाथ यात्रा की थी। तब सुरक्षाबलों ने पवैया पर हमला करने की कोशिश करने वाले दो आतंकवादियों को मार गिराया था। तभी से वे आतंकवादी संगठन हिजबुल के रडार पर हैं।

उधर कोरोना फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले तबलीगी जमात के लोगों से भी पवैया को खतरा है। इसलिए इनपुट एजेंसियों की रिपोर्ट के बाद सरकार ने इसकी सूचना केंद्रीय गृह मंत्रालय को दी थी जिसे बाद सभी खतरों को देखते हुए सरकार ने पवैया की सुरक्षा बढ़ाई है। पवैया को जिस Y श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है उसमें 11 सुरक्षाकर्मी होते हैं इसमें एक या दो कमांडो, दो पीएसओ और अन्य सुरक्षाकर्मी रहते हैं जो चौबीस घंटे जय भान सिंह पवैया को सुरक्षा घेरे में रहेगा।