MP News: लापरवाही मामले में 5 अधिकारियों पर बड़ा एक्शन, 3 पुलिसकर्मी सहित 2 सस्पेंड

MP News: कार्रवाई मध्य प्रदेश सिविल सेवा नियम के अधिनियम के तहत हुई है।

mp news

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मप्र (MP) में लापरवाही और अनियमितता पर कार्रवाई जारी है। दरअसल अब भारी अनियमितता की वजह से एक उप निरीक्षक (SI) और दो कांस्टेबल (constable) को निलंबित कर दिया गया है। इसके अलावा सिवनी में सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) की शिकायतों के समाधान में लापरवाही पर एक पटवारी (patwari) को निलंबित (suspend) कर दिया गया है। वहीँ दमोह में उच्च माध्यमिक शिक्षक पर गाज गिरी है।

दरअसल सीहोर में लॉकअप में सोमवार को 45 वर्षीय एक व्यक्ति की पिटाई के बाद गंभीर रूप से घायल होने के बाद बुधवार को एक उप निरीक्षक और दो कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया। वहीँ पुलिस गंजबाजरिया निवासी अभिषेक युवक को पूछताछ के लिए थाने ले गई।

लॉकअप में उन्होंने अभिषेक को इतना पीटा कि उसकी कमर के नीचे गंभीर चोटें आईं। अभिषेक ने घटना की शिकायत पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी से की। शिकायत मिलने के तुरंत बाद अवस्थी ने उपनिरीक्षक मनोज मालवीय और दो आरक्षकों को निलंबित कर दिया। शिकायत के मुताबिक अभिषेक जब गन्ना खरीदने के लिए अपने घर से निकला तो पुलिस वाले उसे अपने एक रिश्तेदार के बारे में पूछताछ के नाम पर कोतवाली थाने ले गए।

Read More: MP Corona: 9 दिन में मिले 76 केस, 24 घंटे में 5 नए पॉजिटिव, CM Shivraj के सख्त निर्देश

अभिषेक ने जैसे ही कहा था कि वह मालवीय के अलावा संबंधित व्यक्ति के बारे में कुछ नहीं जानता और दोनों कांस्टेबल उसे पीटने लगे। अगले दिन जब उसके परिजन थाने पहुंचे तो उसे छोड़ दिया गया। अवस्थी ने कहा कि अभिषेक की शिकायत के आधार पर मालवीय और दो कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है और जांच के आदेश दिए गए हैं।

इधर दूसरी तरफ दमोह में अफसरों के आदेश ना माने और शासकीय कर्तव्य निर्वहन में लापरवाही और उदासीनता बरतने की वजह से शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है। यह कार्रवाई सागर संभाग कमिश्नर मुकेश कुमार शुक्ला द्वारा की गई है। कार्रवाई मध्य प्रदेश सिविल सेवा नियम के अधिनियम के तहत हुई है।

तीसरा मामला सिवनी जिले से सामने आया है। जहां अनुभाग अधिकारी राजस्व सिद्धार्थ जैन द्वारा सीएम हेल्पलाइन मामले में उचित कार्यवाही ना करने सहित खरीफ कार्य में लापरवाही बरतने, समय सीमा में किसान का खसरा अपडेट ना करने सहित अन्य लापरवाही को मध्य नजर रखते हुए पटवारी रूपेश परतेती को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।