MP News : किसान आंदोलन के बीच अचानक पहुंचे सीएम शिवराज, किसानों को राहत देने के लिए ये बड़े फैसले

CM Shivraj in Kisan Movement : आज भोपाल में भारतीय किसान संघ के बैनर तले हजारों किसान अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान यहां आ पहुंचे और उन्होने किसानों को संबोधित करते हुए कई घोषणाएं कर डाली। सीएम ने कहा कि ऐसा हो ही नहीं सकता कि किसान आए और मामा उनके बीच न आए, ये हो ही नहीं सकता। इसी के साथ उन्होने घोषणा की कि जो किसान डिफॉल्टर हो गए है, उनके कर्ज का ब्याज सरकार भरेगी।

अचानक किसानों के बीच पहुंचे सीएम शिवराज

दरअसल हजारों की तादाद में किसान आज भोपाल के एमवीएम मैदान में जुटे थे। ये मांग कर रहे थे कि कृषि से जुड़े विषय पर सात दिन का विधानसभा का सत्र बुलाया जाए। इसी के साथ अतिवृष्टि से प्रभावित किसानों को आपदा राहत कोष से तत्काल राशि का भुगतान हो, मुख्यमंत्री किसान कल्याण निधि में वृद्धि हो और इसी के साथ कई अन्य मांगें भी शामिल है। इसी बीच दोपहर करीब 3 बजे सीएम शिवराज सिंह चौहान अचानक यहा आ गए और उन्होने एक के बाद किसानों के लिए की घोषणाएं कर डाली। उन्होने कहा कि ‘आपके बीच आया हूं क्योंकि किसान आए और मामा उनके बीच ना आए, ये हो ही नही सकता। किसान भाइयों और बहनों की समस्याओं को समझना हमारा कर्तव्य है। ऐसा थोड़ी है कि किसान यहां नारे लगाते रहे और मैं और कहीं निकल जाऊं। इसलिए मैंने तय किया कि पहले मैं किसान भाइयों और बहनों के बीच जाऊंगा। आपके बीच में आया हूं तो आप के प्रति प्रेम और श्रद्धा मन में रखकर आया हूं और इस भाव के साथ आया हूं कि जो भी जायज समस्याएं किसानों की होंगी उसे पूरा करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे।’

मुख्यमंत्री ने खोला घोषणाओं का पिटारा

सीएम शिवराज ने घोषणा की कि किसान की सहमति से ही उसकी जमीन अधिकृत होगी, बिना किसान की अनुमति के जमीन अधिकृत नहीं होगी। इसी के साथ कांग्रेस की कर्ज माफी के कारण डिफॉल्टर किसानों के कर्जमाफी का ब्याज सरकार भरेगी। किसान पम्प योजना का अनुदान अगले बजट में आ जाएगा गन्ना किसानों का बकाया मिल मालिकों से बात कर वापस कराएंगे। जले हुए ट्रांसफार्मर को जल्द से जल्द बदलवाएंगे। नहरों की मरम्मत कर टेल एंड तक व्यवस्थित पानी पहुंचाएंगे। ओवरलोड ट्रांसफार्मर के साथ अतिरिक्त ट्रांसफार्मर रखने की व्यवस्था करेंगे। पीएम किसान सम्मान निधि, और मुख्यमंत्री किसान कल्याण निधि योजना में बचे हुए किसानों के नाम जोड़ेंगे। राजस्व के और बिजली बिल निराकरण के शिविर लगाए जाएंगे। जमीन क्रय करने के बाद शीघ्र नामांतरण की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। खरीदी केंद्र पर तुलाई जल्दी पूरी करने के लिए बड़े तौल कांटे लगाए जायेंगे। रिवेन्यू की जमीन पर पुराने कब्जे है, वर्षो से खेती कर रहे है उन्हें पट्टे देने का काम करेंगे। इस प्रकार सीएम शिवराज ने किसानों के लिए एक के बाद एक घोषणाओं का पिटारा खोल दिया।