MP News : तेज़ रफ्तार के शौकीन सावधान! मध्यप्रदेश पुलिस अब तकनीक की मदद से पकड़ेगी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। अगर आप भी तेज रफ्तार कार या बाइक चलाने के शौकीन हैं और इस कारण नियमों की अनदेखी करते हैं तो संभल जाइये, क्योंकि मध्य प्रदेश पुलिस भी अब ट्रैफिक इंटरसेप्टर (Traffic Interceptor) से ओवरस्पीडिंग करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। इसके लिए सारी तैयारियां कर ली गई हैं। पुलिस मुख्यालय ने इसके लिए निर्देश जारी कर दिए हैं।

अच्छी खबर : रिटायरमेंट के बाद भी आपको हो सकती है रेगुलर इनकम, पढ़िए डिटेल

पुलिस मुख्यालय ने इसके लिए 33 ट्रैफिक इंटरसेप्टर व्हीकल खरीदे हैं। ये व्हीकल प्रदेश के 33 जिलों को सौंपे जा रहे हैं। पहले चरण में हर जिले को एक-एक व्हीकल दिया जा रहा है। दूसरे चरण में 17 ट्रैफिक इंटरसेप्टर व्हीकल और खरीदे जाएंगे। ये व्हीकल जीपीएस, साउंड मीटर, स्पीड राडार और टिंट मीटर से लैस होंगे। स्पीड राडार में लगे लेज़र कैमरे के रेजॉल्यूशन 800 दूरी तक की है। मतलबर अगर 800 मीटर दूरी पर भी किसी वाहन ने स्पीड लिमिट तोड़ी तो 0.3 सेकेंड में रफ्तार माप लेगा। लेजर टेक्नॉलॉजी कैमरे की मदद से 300 मीटर दूरी से वाहन की नंबर प्लेट को भी पढ़ा जा सकता है। नियम तोड़ने के बाद चालक अगर वाहन लेकर भाग भी गया तो चालान उसके घर पहुंच जाएगा।