MP News: जननी एक्सप्रेस का संचालन बंद, ये है बड़ा कारण

जिसके बाद संस्था द्वारा निर्मित अनियमितता की वजह से जननी एक्सप्रेस संचालकों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में कई महीनों से हेल्थ केयर (health care) के तानाशाही पूर्ण रवैया से त्रस्त होकर आखिरकार जननी एक्सप्रेस (janani express) ने बड़ा फैसला लिया है। आगामी दिनों तक मध्य प्रदेश में जननी एक्सप्रेस का संचालन बंद कर दिया गया है। इस मामले में जिकित्सा हेल्थ केयर लिमिटेड (Jikitsa Health Care Ltd.) के परियोजना प्रमुख को जननी एक्सप्रेस संचालक संघ ने पत्र लिखा है। भेजे पत्र में जननी एक्सप्रेस संचालक संघ ने कहा कि ईंधन मूल्य में लगातार वृद्धि होती जा रही है। जबकि जननी एक्सप्रेस को लागत मूल्य से कम का भुगतान किया जा रहा है। जिसके बाद प्रदेश में जननी एक्सप्रेस संचालक संघ, जननी एक्सप्रेस सेवा देने में असमर्थ है।

मामले में जननी एक्सप्रेस का कहना है कि भुगतान संबंधी समस्याओं का निराकरण के लिए कई बार लिखित और मौखिक रूप से जिकित्सा केंद्र को सूचित किया गया है। जिकित्सा हेल्थ केयर लिमिटेड द्वारा किसी तरह का ध्यान नहीं दिया गया है। जननी संघ ने आरोप लगाया है कि अनुबंधित नियमों के विपरीत हर महीने उन्हें अतिरिक्त विलंब के साथ भुगतान किया जा रहा है। जिसके बाद संस्था द्वारा निर्मित अनियमितता की वजह से जननी एक्सप्रेस संचालकों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

Read More: Bhopal News: सरकारी डॉक्टर ने IAS पर किया कटाक्ष, VIDEO VIRAL

जननी एक्सप्रेस संघ द्वारा जिकित्सा हेल्थ केयर को भुगतान के लिए सितंबर महीने तक का वक्त दिया गया था। जिसकी अवधि पूरी हो गई है। इसके बाद अब संपूर्ण प्रदेश में जननी सेवा बिना किसी पूर्व सूचना के स्थाई रूप से बंद कर दी गई है। जननी एक्सप्रेस संचालक संघ ने जिकित्सा हेल्थ केयर लिमिटेड कंपनी से समस्याओं का निपटारा करने और जुलाई और अगस्त महीने की संपूर्ण बकाये सहित 50000 रुपए की धरोहर राशि का भुगतान सुनिश्चित करने की मांग की है।

बता दें कि अपनी मांगों को लेकर जननी एक्सप्रेस संचालक संघ (Janani Express Operator Association) ने हड़ताल की चेतावनी दी थी। दरअसल जननी एक्सप्रेस संचालक ने आज उचित स्वास्थ्य शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग  (Visvas sarang) को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा था। उनका कहना है कि अगर सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है तो हड़ताल पर चले जाएंगे।

JESSMP108SERVICES