MP: लापरवाही पर बड़ी कार्रवाई, प्रबंधक समेत 3 निलंबित, 30 शिक्षकों का वेतन रोका

लापरवाही बरतने के साथ पदीय दायित्वों के निर्वहन में अनियमितता बरतने के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित कर क्रमशः मुख्यालय श्योपुर वृत्त कार्यालय एवं मुरैना वृत्त कार्यालय नियत किया गया है।

mp suspened

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP News) में एक बार फिर सरकारी कामों में लापरवाही करने पर बड़ा एक्शन लिया गया है। बिजली कंपनी  के एजीएम, मैनेजर और असिस्टेंट मैनेजर को निलंबित कर दिया गया है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने अनियमितता, कर्त्तव्य में लापरवाही और कर्त्तव्य के प्रति सजग नहीं रहने के आरोप में उप महाप्रबंधक (चालू प्रभार)  यशपाल सचदेवा, प्रबंधक  पुलस्थ पांडे एवं सहायक प्रबंधक  एमसी गुप्ता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

यह भी पढ़े.. MP Weather: पश्चिमी विक्षोभ का असर, 24 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, 6 संभागों में बिजली गिरने का अलर्ट, कई सिस्टम एक्टिव

भिण्ड वृत्त के गोहद संभाग में पदस्थ यशपाल सचदेवा उपमहाप्रबंधक (चालू प्रभार) को अपने कर्त्तव्यस्थल एवं मुख्यालय से बिना अनुमति अनुपस्थित पाए जाने, आबादी फीडर से कृषि फीडरों की टैपिंग अवैध रूप से जुड़ी पाए जाने, राजस्व वसूली कार्यों में लापरवाही बरतने के साथ ही पदीय दायित्वों के निर्वहन में अनियमितता बरतने के चलते तत्काल प्रभाव से निलंबित कर मुख्यालय गुना वृत्त कार्यालय नियत किया गया है।

इसी प्रकार भिण्ड वृत्तांतर्गत गोहद संभाग में पदस्थ प्रबंधक  पुलस्थ पाण्डे एवं सहायक प्रबंधक श्री एम.सी.गुप्ता को चितौरा उपकेन्द्र से निर्गमित चितौरा आबादी फीडर से कृषि फीडरों की टैपिंग अवैध रूप से जुड़ी पाए जाने, राजस्व वसूली कार्यों में लापरवाही बरतने के साथ पदीय दायित्वों के निर्वहन में अनियमितता बरतने के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित कर क्रमशः मुख्यालय श्योपुर वृत्त कार्यालय एवं मुरैना वृत्त कार्यालय नियत किया गया है।

यह भी पढ़े.. CG Weather: मानसून द्रोणिका का असर, 24 जुलाई तक जारी रहेगा वर्षा का दौर, 2 दर्जन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, जानें अपडेट

कंपनी के प्रबंध संचालक  गणेश शंकर मिश्रा ने कहा है कि उपभोक्ता सेवा सर्वोपरि है। उपभोक्ताओं को कंपनी बेहतर से बेहतर सेवाएँ देने के लिए कृत संकल्पित है और इसी दिशा में काम किया जा रहा है। उन्होंने मैदानी अधिकारियों से कहा है कि वे उपभोक्ता सेवा और कंपनी की योजनाओं का लाभ पात्र उपभोक्ताओं को प्रदान करें तथा सजगता से कार्य करें। उन्होंने अधिकारी और कर्मचारियों को सचेत किया कि आर्थिक अनियमितताओं के मामलों में सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।

जबलपुर में जिला शिक्षा विभाग के सिहोरा, मझौली, शहपुरा, कुंडम एवं विकासखंड स्रोत समन्वयक जनपद शिक्षा केन्द्र के अधिकारियों द्वारा अनेक विद्यालयों के औचक निरीक्षण 30 शिक्षकों के स्कूल से नदारद मिलने पर बड़ी कार्रवाई की गई है। जिला शिक्षा अधिकारी घनश्याम सोनी ने इन सभी का एक दिन का वेतन राजसात करने के निर्देश दिए गए हैं।

इन शिक्षकों का वेतन रोका

इनमें कविता सिंह व रिचा गौर माध्यमिक शाला गांधीग्राम, मिथलेश तिवारी, संध्या पाटकर, कामनी नेगा, सरोज जैन, रमेती केवट-माध्यमिक शाला कछपुरा, कमलेश साहू उमावि इंद्राना, गीता सोनी व यशोदा धुर्वे प्राथमिक शाला चौखड़ा, राबिन जाट माशा-बारहा, दिनेश शुक्ला व निर्मला कुशवाहा शास. यूईजीएस पिपरिया टोला, रूप कुमार पटेल व सपना रजक शास. यूईजीएस मनकेड़ी टोला, रश्मि कुमार, आर. रबीन, संदीप बिलथरिया, चंद्रकांत थोयर माशा ईपीएस सिलुआ, रामगोपाल दारामोगरे व ज्योति ठाकरे हाईस्कूल बैरागी, रोशनी कहार शास. ईपीएस परासिया, देवेन्द्र साहू व संतोष चौरसिया प्रा.शाला खैरी, अर्पुननिशा मा.शाला बैरागी, आभा चक्रवर्ती मा.शाला गांधीग्राम, निरपत धुर्वे व संदीप बगड़े मा.शाला बैरागी और जयप्रकाश मेहरा व पूजा तंतुवाय प्रा.शाला रामपुर हैं।