MP पंचायत चुनाव: जिलेवार अधिकारियों की नियुक्ति, 21 को रेण्डमाईजेशन, दल गठित, निर्देश जारी

भी तक कुल 23 हजार 222 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन-पत्र प्रस्तुत किया है, जिनमें से 12 हजार 226 पुरुष और 10 हजार 984 महिला तथा 2 अन्य अभ्यर्थी शामिल हैं।

पंचायत चुनाव 2021

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव (Madhya Pradesh election 2021-22) ने नया मोड़ ले लिया है। एक तरफ राज्य चुनाव आयोग ने अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित पदों को छोड़कर शेष सभी पदों के लिए निर्वाचन प्रक्रिया जारी रखने का फैसला किया है और मप्र सरकार को आरक्षित पदों के संबंध में रि-नोटिफाई करने की कार्रवाई 1 सप्ताह में कर आयोग को सूचित करने के निर्देश दिए है।वही दूसरी तरफ जिलेवार रिटर्निंग ऑफिसरों और नोडल अधिकारियों की नियुक्ति का सिलसिला जारी है। पन्ना में आरक्षित वर्ग के मतदाता नहीं होने पर अपवर्जन की कार्यवाही और कटनी में 21 दिसंबर को पहला रेण्डमाईजेशन करने के निर्देश दिए है।अबतक प्रदेशभर से 23222 ने नामांकन भरा है।

यह भी पढ़े.. भारत में इस समय में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर? जारी हुई चेतावनी

पंचायत चुनाव 2021-22 अंतर्गत जिला एवं जनपद पंचायत के अभ्यर्थियों के निर्वाचन के लिये EVM मशीनों की कमीशनिंग जनपद पंचायत मुख्यालय पर 24 दिसम्बर 2021 से कार्य समाप्ति तक की जायेगी। इस कार्य के लिये रिटर्निंग ऑफीसर के मार्गदर्शन में अधिकारियों और कर्मचारियों (Employees-Officers) की ड्यूटी लगाते हुए संयुक्त कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन साधना परस्ते ने आदेश जारी किया है। इस संबंध में जारी आदेश के तहत जनपद पंचायत बहोरीबंद में EVM कमीशनिंग कार्य के लिये 25 दलों को नियोजित किया गया है। इसी प्रकार जनपद पंचायत रीठी अंतर्गत कमिशनिंग कार्य के लिये 25 दल नियोजित किये गये हैं। प्रत्येक दल में दल प्रभारी सहित एक सहायक एवं एक भृत्य शामिल हैं।

आरक्षित वर्ग के वोटर ना होने पर अपवर्जन की कार्यवाही

पन्ना जिले में पंचायत चुनाव 2021-22 के तहत दूसरे चरण में 28 जनवरी को सभी विकासखण्ड में मतदान होगा। अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित ग्राम पंचायतों में अनुसूचित जनजाति वर्ग के मतदाता निवासरत नहीं होने की स्थिति और नामांकन की अंतिम तिथि तक आरक्षण (Reservation) के अनुरूप कोई नामांकन प्राप्त नहीं होने पर आरक्षण से अपवर्जन की कार्यवाही होगी। उप जिला निर्वाचन अधिकारी जेपी धुर्वे ने बताया कि इस स्थिति में म.प्र. पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 एवं म.प्र. अनुसूचित क्षेत्रों में ग्राम पंचायत नियम 1999 की धारा 17(4) के तहत ग्राम सभा से संकल्प पारित होने के उपरांत तहसीलदार से प्रमाणीकरण कराया जाएगा और संबंधित ग्राम पंचायत में आरक्षित वर्ग के मतदाता निवासरत नहीं पाए जाने पर आरक्षण से अपवर्जन की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

21 दिसंबर को पहला रेण्डमाईजेशन

मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग (Madhya Pradesh State Election Commission) द्वारा जारी कार्यक्रम अनुसार कटनी जिले में प्रथम चरण में जनपद पंचायत बहोरीबंद एवं रीठी के त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन अंतर्गत जनपद एवं जिला पंचायतों के सदस्यों के निर्वाचन होगा। निर्वाचन प्रक्रिया के लिये प्रथम रेण्डमाईजेशन की कार्यवाही 21 दिसम्बर 2021 को होगी। रेण्डमाईजेशन की प्रक्रिया अपरान्ह 3 बजे से कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की जायेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी प्रियंक मिश्रा ने जिले के मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से रैण्डमाईजेशन प्रक्रिया के दौरान उपस्थित रहने का आग्रह किया है।

अब तक 23222 अभ्यर्थियों ने भरा नामांकन

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव  बीएस जामोद ने बताया है कि  पंचायत निर्वाचन 2021-22 में प्रथम और द्वितीय चरण के लिये 18 दिसम्बर को 3987 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन-पत्र जमा किए। इनमें 2085 पुरूष और 1902 महिला अभ्यर्थी के नाम निर्देशन-पत्र हैं। अभी तक कुल 23 हजार 222 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन-पत्र प्रस्तुत किया है, जिनमें से 12 हजार 226 पुरुष और 10 हजार 984 महिला तथा 2 अन्य अभ्यर्थी शामिल हैं। शाम 6 बजे तक प्राप्त जानकारी के अनुसार 18 दिसम्बर को जिला पंचायत सदस्य के लिये 283, जनपद पंचायत सदस्य के लिये 393, सरपंच पद के लिये 2093 और पंच पद के लिये 1218 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन-पत्र जमा किया है।

यह भी पढ़े.. पंचायत चुनाव 2021-22: आयोग ने मप्र सरकार को दिए ये निर्देश, 1 हफ्ते में देना होगा जवाब

बीएस जामोद ने बताया है कि अभी तक जिला पंचायत सदस्य के लिए 629, जनपद पंचायत सदस्य के लिए 1888, सरपंच पद के लिये 14069 और पंच पद के लिये 5418 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन-पत्र प्रस्तुत किया है।प्रथम और द्वितीय चरण के लिये नाम निर्देशन-पत्र 20 दिसम्बर तक भरे जायेंगे। नाम निर्देशन-पत्रों की संवीक्षा 21 दिसम्बर को होगी। अभ्यर्थिता से नाम वापस लेने की अंतिम तारीख और निर्वाचन प्रतीकों का आवंटन 23 दिसम्बर को होगा। प्रथम चरण का मतदान 6 जनवरी और द्वितीय चरण का मतदान 28 जनवरी 2022 को सुबह 7 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक होगा।

जिलेवार अधिकारियों की नियुक्ति

  • आगर-मालवा के संयुक्त कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजेन्द्र सिंह रघुवंशी ने आयोग द्वारा आगर-मालवा जिले में त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन के लिए नियुक्त प्र्रेक्षक के लायजनिंग ऑफिसर की नियुक्ति की है।
  • जारी आदेशानुसार जिला आबकारी अधिकारी बीएल दांगी अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण विभाग ईशान निगम एवं संबंधित क्षैत्र के मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को लायजनिंग आफिसर नियुक्त किया है तथा संबंधित क्षैत्र के तहसीलदार एवं राजस्व निरीक्षक को सहायक अधिकारी नियुक्त किया है तथा दो कम्प्यूटर ऑपरेटरों की भी ड्यूटी लगाई है।
  • पन्ना जिला निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार मिश्र ने 23 दिसम्बर को उम्मीदवारों को प्रतीक चिन्ह आवंटन के बाद निर्धारित प्रारूप में अभ्यर्थियों की पदवार सूची तैयार करने और मतपत्र मुद्रण के लिए विकासखण्डवार सहायक रिटर्निंग अधिकारी (मतपत्र) नियुक्त किए हैं।
  • पन्ना विकासखण्ड के लिए ममता मिश्रा, पवई के लिए सुश्री संध्या अग्रवाल, अजयगढ़ के लिए सुरेन्द्र कुमार अहिरवार, गुनौर के लिए आकाश नीरज और शाहनगर के लिए संदीप सिंह को एआरओ (मतपत्र) की जिम्मेदारी सौंपी गई है। सभी एआरओ राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतपत्र मुद्रण का कार्य सुनिश्चित कराएंगे।
  •   राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव के लिये जारी कार्यक्रमानुसार जिला पंचायत सदस्यों के नाम-निर्देशन पत्र दाखिल करने के प्रक्रिया 13 दिसंबर से प्रारंभ हो चुकी है।
  • अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजेश शाही ने इस दौरान जिला पंचायत सदस्य के उम्मीदवारों के नाम का मतदाता सूची में अवलोकन करने 4 कर्मचारियों की नियुक्ति की है। जिसके अनुसार सहायक ग्रेड-2 मोतीलाल साकेत, सहायक ग्रेड-3 प्रमोद साकेत और गणेश प्रसाद शुक्ला तथा भृत्य विपिन कुमार प्रजापति अवलोकन का कार्य संपादित करना सुनिश्चित करेंगे।