उपचुनाव से पहले वरिष्ठ आईएएस वीरा राणा को मिली बड़ी जिम्मेदारी

भोपाल।

कोरोना संकटकाल के बीच प्रदेश की शिवराज सरकार उपचुनाव पर भी अपनी निगाहें जमाए हुए है। यही कारण है कि चुनाव से पहले सरकार अपने हिसाब से जमावट करने में जुटी हुई है। अब वरिष्ठ आईएएस अधिकारी वीरा राणा को प्रदेश की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बनाया गया है।इसे शिवराज सरकार का बड़ा दांव माना जा रहा है।

दरअसल 1988 batch की वरिष्ठ आईएएस अधिकारी वीरा राणा प्रदेश की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बनाई गयी हैं।अब आईएएस वीणा राणा प्रदेश में होने वाले 24 सीटों पर चुनाव संपन्न कराएगी। वीणा राणा इससे पहले खेल और युवा कल्याण विभाग में अपर मुख्या सचिव के पद पर कार्यरत थी। बता दें कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी बीेएल कांता राव के केंद्रीय नियुक्ति के बाद ये स्थान रिक्त पड़ा था।

गौरतलब है कि वीरा राणा को पिछले साल जून में प्रदेश शासन ने राजगढ़ जिले की प्रभारी सचिव नियुक्त किया था। सन 1991-92 के दाैरान नरसिंहगढ़ एसडीएम भी रही था। जिसके बाद उन्हें खेल एवं युवा कल्याण विभाग में अपर मुख्य सचिव (एसीएस) के पद पर पदस्थ किया गया था। वही राज्य सरकार ने होली के एक दिन पहले तीन चार महीने से अवकाश पर चल रही आईएएस वीरा राणा को एसीएस खेल एवं युवक कल्याण पदस्थ किया था। इसके पूर्व राणा को राज्यपाल का प्रमुख सचिव बनाया गया था, लेकिन वे किन्हीं कारणों के चलते अवकाश पर चली गई थी। जिसके बाद उन्हें खेल एवं युवा कल्याण विभाग में अपर मुख्य सचिव का कार्यभार सौंपा गया था