धारा 370 पर प्रदेश कांग्रेस ने जारी की एडवाइजरी, उल्लंघन किया तो होगी कार्रवाई

mp-State-Congress-issued-advisory-on-section-370-for-it-cell-workers-

भोपाल| कश्मीर मुद्दे पर भाजपा के बाद अब कांग्रेस ने भी अपने नेताओं को प्रतिक्रिया देने से रोकने का फरमान जारी कर दिया है| मध्य प्रदेश कांग्रेस आईटी सेल एवं सोशल मीडिया विभाग द्वारा इस सम्बन्ध में निर्देश जारी किये गए हैं| जिसके अनुसार सभी कांग्रेस सोशल मीडिया के सदस्यों को निर्देशित किया गया है कि धारा 370 विषय पर सोशल मीडिया में कोई भी पोस्ट या ग्राफ़िक्स डालने या शेयर करने से बचें। वहीं चेतावनी भी दी गई है कि अगर कोई सोशल मीडिया में इस विषय को लेकर कोई पोस्ट शेयर करता है तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही होगी|

मध्यप्रदेश कांग्रेस आईटी सेल एवं सोशल मीडिया विभाग के अध्यक्ष अभय तिवारी ने सोमवार को सभी कांग्रेस सोशल मीडिया के सदस्यों को निर्देशित किया कि धारा 370 विषय पर सोशल मीडिया में कोई भी पोस्ट या ग्राफ़िक्स डालने या शेयर करने से बचें। उन्होंने कहा यदि कांग्रेस सोशल मीडिया का कोई भी साथी इस विषय पर सोशल मीडिया पर पोस्ट डालता, टिप्पणी करता या प्रतिक्रिया देता पाया जाता है, तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही होगी। एआईसीसी के निर्देश आने पर ही इस विषय पर पोस्ट/ चर्चा हो सकेगी जिसके लिए आपको पृथक से सूचना दी जाएगी। 

बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश भाजपा ने अपने प्रवक्ताओं और नेताओं को निर्देश जारी कर कहा है कि कोई भी नेता जम्मू-कश्मीर के मुद्दे, आतंकवाद और किसी भी तरह के हिंदू-मुस्लिम संबंधों से जुड़े मुद्दे पर सार्वजनिक रूप से बात नहीं करेगा। प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पारासर ने भी पार्टी नेता, प्रवक्ता एवं पेनालिस्टों से इस मसले पर मुंह बंद रखने को कहा है।  पार्टी हाईकमान के निर्देशानुसार पार्टी का कोई भी प्रवक्ता और पैनलिस्ट जम्मू-कश्मीर के ताजा हालात और आतंकवाद से जुड़े मुद्दे पर होने वाली टीवी बहस में शामिल नहीं होंगे।  इससे पहले कांग्रेस भी लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद अपने प्रवक्ताओं पर टीवी डिबेट में हिस्सा लेने पर रोक लगा चुकी है|