MP Weather: मप्र के 9 जिलों में आज बारिश के आसार, बिजली गिरने की भी चेतावनी

MP WEATHER

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।मध्यप्रदेश (MP Weather Today) के मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है। कभी तेज धूप गर्मी से परेशान कर रही है तो कभी बौछारें फिजा में ठंड़क घोल रही है।प्रदेश के 40 से ज्यादा जिलों से मानसून की विदाई हो चुकी है, बावजूद इसके पिछले 24 घंटे में कई जिलों में बौछार देखने को मिली है। एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज मंगलवार 12अक्टूबर 2021 को 9 जिलों में बारिश (Rain) और  बिजली चमकने और गजरने के चलते येलो अलर्ट जारी किया है।

यह भी पढ़े.. MP Weather: मप्र का मौसम बदला, आज 10 जिलों में बारिश के आसार, बिजली गिरने का भी अलर्ट

मौसम विभाग (MP Weather Update) की मानें आज 12 अक्टूबर 2021 को  बड़वानी, अलीराजपुर,झाबुआ, धार,  रतलाम, देवास, मंदसौर, नीमच और छिंदवाड़ा में बारिश की संभावना है। वही इन सभी जिलों में बिजली चमकने और गिरने के चलते येलो अलर्ट जारी किया गया है।इधर, वेदर सिस्टम और हवाओं के रुख बदलने के चलते पूरे हफ्ते कहीं कहीं बारिश के आसार है।ग्वालियर-चंबल समेत 41 जिलों से मानसून पूरी तरह से विदा हो चुका है, लेकिन अन्य राज्यों से नमी मिलने के चलते कहीं कहीं बारिश हो रही है।

यह भी पढ़े.. Government Jobs: यहां 423 पदों पर निकली है भर्ती, 1 लाख तक सैलरी, जल्द करें एप्लाई

मौसम विभाग (MP Weather Forecast) की मानें तो वर्तमान में बंगाल की खाड़ी में हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात मौजूद है, जिसके चलते मंगलवार को कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित होने की संभावना है। बंगाल की खाड़ी में नवरात्रि के बाद 15 अक्टूबर को एक चक्रवातीय तूफान बनने जा रहा है। यह उड़ीसा व आंध्र प्रदेश तट के पास टकराएगा, लेकिन तट से टकराने के बाद इसकी गति धीमी हो जाएगी और कम दबाव के रूप में आगे बढ़ने से मध्य प्रदेश में बारिश का एक दौर आ सकता है। ग्वालियर चंबल संभाग में भी 16 से 18 अक्टूबर के बीच हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इसके बाद भी वेदर सिस्टम बनते है तो बौछारें होती रहेंगी। यह मानसून के बाद की बारिश मानी जाएगी।

इन जिलों से मानसून विदा

  • 8 अक्टूबर को ग्वालियर, मुरैना, श्योपुर और नीमच से मानसून की विदाई हुई। विदा होने की सामान्य तारीख 30 सितंबर है। इस हिसाब से अबकी बार 8 दिन की देरी से मानसून ने वापसी की है।
  • 9 अक्टूबर को भोपाल, सागर, रीवा और शहडोल संभाग के सभी जिलों से विदाई हो गई। वहीं भिंड, दतिया, शिवपुरी, अशोकनगर, गुना, मंदसौर, उज्जैन, रतलाम, झाबुआ, धार, इंदौर, आगर, देवास, शाजापुर, होशंगाबाद, नरसिंहपुर, जबलपुर, मंडला और डिंडोरी जिलों से भी वापसी हुई। यहां 4 दिन की देरी से मानसून ने विदाई ली है। अमूमन 5 अक्टूबर को मानसून की वापसी हो जाती है।

MP Weather: मप्र के 9 जिलों में आज बारिश के आसार, बिजली गिरने की भी चेतावनी