MP Weather : नए सिस्टम से फिर बदलेगा मौसम, 15 सितंबर से झमाझम के आसार, आज 21 जिलों में बारिश-बिजली का अलर्ट, जानें IMD पूर्वानुमान

Pooja Khodani
Published on -
mp weather

MP Weather Alert Today : मध्यप्रदेश में कोई मजबूत सिस्टम के सक्रिय ना होने के चलते फिलहाल 3-4 दिनों तक हल्की से मध्यम बारिश के आसार है, लेकिन 13 और 14 सितंबर को बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर एरिया के एक्टिव होते ही 15 सितंबर से झमाझम बारिश होने का अनुमान है। नए सिस्टम के प्रभाव से बारिश का दौर 2 हफ्तों और यानि 21-22 सितंबर तक जारी रह सकता है।अगले 24 घंटे के दौरान रीवा, सागर, ग्वालियर, चंबल में भारी वर्षा तो नर्मदापुरम, भोपाल सहित आसपास के जिलों में हल्की बार‍िश की संभावना हैं।

आज इन जिलों में बारिश का अलर्ट

  • एमपी मौसम विभाग के मुताबिक, आज मंगलवार को गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, ग्वालियर, दतिया, भिंड, मुरैना, श्योपुरकलां, सिंगरौली, सीधी, रीवा, सतना, अनूपपुर, उमरिया, डिंडोरी, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट, टीकमगढ़ और निवाड़ी में गरज चमक के साथ हल्की बारिश हो सकती है।
  • भोपाल, इंदौर, उज्जैन समेत बाकी जिलों में मौसम साफ रहेगा, लोकल सिस्टम के प्रभाव से बादल छाने के साथ कहीं-कहीं बूंदाबांदी हो सकती है।
  • दतिया, मुरैना, भिंड, डिंडोरी, अनूपपुर, टीकमगढ़, सतना और रीवा में मध्यम से भारी बार‍िश की संभावना है।
  • अगले 24 घंटे के लिए जबलपुर सहित संभाग के कटनी, मंडला, डिंडौरी सहित आस-पास के जिलों में मध्यम से भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है।

क्या कहता है मौसम विभाग का पूर्वानुमान

एमपी मौसम विभाग के मुताबिक, मौसम को प्रभावित करने वाला एक चक्रवात उत्तर पश्चिमी मध्य प्रदेश पर बना हुआ है। इस चक्रवाती परिसंचरण से पूर्वी मध्य प्रदेश, दक्षिण छत्तीसगढ़ से होते हुए एक ट्रफ रेखा पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी तक जा रही है।  इसके असर से प्रदेश में कहीं मध्यम तो कहीं भारी हो रही है।  ग्वालियर-चंबल और जबलपुर में 13-14 सितंबर से बंगाल की खाड़ी में सक्रिय होने वाले नए चक्रवाती घेरे के प्रभाव से मौसम में बदलाव आएगा और 18 सितंबर तक वर्षा का दौर चलेगा।वही इंदौर में अगले तीन से चार दिन तक बारिश की गतिविधियां थमी रहेगी।वही 15 से 18 सितंबर तेज बा‍र‍िश होने की संभावना है।

Continue Reading

About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)