MP TET पेपर लीक मामला: व्हिसल ब्‍लोअर डॉ. आनंद राय दिल्‍ली से गिरफ्तार, निलंबित

मध्य प्रदेश के व्हिसलब्लोअर डॉ. आनंद राय दिल्ली के एक होटल से देर रात गिरफ्तार किया गया है।

MP TET

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। मप्र प्राथमिक शिक्षा पात्रता वर्ग-3 (MP TET) के प्रश्न पत्र लीक मामले में नई अपडेट सामने आई है।  व्‍यापमं घोटाले (Vyapam Scam) के व्हिसल ब्‍लोअर डॉ. आनंद राय (Dr. Anand Rai) को मध्‍य प्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) की क्राइम ब्रांच ने दिल्‍ली से गिरफ्तार किया है। आज उन्हें भोपाल लाया जाएगा। इस बात की जानकारी खुद डॉ. आनंद राय ने ट्वीटर के माध्यम से दी है।इधर, इस कार्रवाई के बाद स्वास्थ्य विभाग ने राय को निलंबित कर दिया है।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज, 2022 में वेतन में होगी 8 से 12% तक वृद्धि! सैलरी में आएगा बंपर उछाल

मध्य प्रदेश के व्हिसलब्लोअर डॉ. आनंद राय दिल्ली के एक होटल से देर रात गिरफ्तार किया गया है।भोपाल क्राइम ब्रांच टीआई अनूप उइके औऱ सब इंस्पेक्टर जितेन्द्र वर्मा ने उन्हें हिरासत में लिया है। क्राइम ब्रांच की टीम व्हिसलब्लोअर आंनद राय को देर रात दिल्ली से भोपाल लेकर रवाना हुई है।व्हिसल ब्‍लोअर डॉ. आनंद राय ने ट्वीट कर लिखा है कि  मुझे दिल्ली से होटल काबली से क्राइम ब्रांच भोपाल ने हिरासत में ले लिया है, सभी कार्यकर्ता शुभचिंतक भोपाल पहुँचे। इस ट्वीट को उन्होंने विवेक तन्खा और कपिल सिब्बल को टैग किया।

गिरफ्तारी के बाद डॉ. आनंद राय को स्वास्थ्य विभाग ने निलंबित कर दिया है। यह कार्रवाई दायित्वों में गंभीर लापरवाही बरतने, शासकीय सेवक रहते सरकारी योजना के साथ नीतियों की सोशल मीडिया पर आलोचना के चलते सिविल सेवा आचरण नियम के तहत की गई है।संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं की अपर संचालक सपना एम लोवंशी ने डॉ. आनंद राय को निलंबित करने संबंधी आदेश जारी किए। आदेश के अनुसार इंदौर के हुकुमचंद चिकित्सालय में पदस्थ्य डॉ. राय का निलंबन के बाद मुख्यालय क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं रीवा संभाग रहेगा। निलंबन काल में डॉ. राय को नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।

यह भी पढ़े.. MP Board : स्कूलों को दिया गया अंतिम मौका, बढ़ाई गई तारीख, 10वीं-12वीं रिजल्ट पर नई अपडेट

बता दे कि हाल ही में व्हिसलब्लोअर आनंद राय ने फेसबुक पर MPTET पेपर लीक का एक वीडियो वायरल किया था और स्क्रीनशॉट में लक्ष्मण सिंह का नाम दिख रहा था, इसी स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर शेयर कर व्हिसल ब्लोअर डॉ. आनंद राय ने सवाल किया था कि ये लक्ष्मण सिंह कौन हैं?वही आनंद राय और कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने CM के OSD पर सार्वजनिक आरोप लगाये थे। इसके बाद  राय के साथ कांग्रेस नेता केके मिश्रा के खिलाफ भी मुख्यमंत्री के OSD लक्ष्मण सिंह ने FIR दर्ज कराई है।मरकाम ने 27 मार्च को अजाक थाने में केस दर्ज करवाया था। इसके बाद केस को क्राइम ब्रांच काे सौंप दिया गया था।इस मामले में क्राइम ब्रांच ने दोनों आरोपितों को नोटिस जारी किया था, लेकिन जवाब ना देने पर पुलिस ने उनकी तलाश शुरू कर दी थी और देर रात आनंद रॉय को गिरफ्तार किया है।

कोर्ट ने लगाई थी फटकार

वही आनंद राय प्रकरण पर जबलपुर हाई कोर्ट ने कार्यवाही ना करने की याचिका खारिज कर दी है।हाईकोर्ट ने कहा कि आप विसिलबलोअर हैं तो कुछ भी कहेंगे ? किसी भी निर्दोष पर आरोप लगाएँगे ? किसी भी आदिवासी का जातीसूचक अपमान करेंगे ? आप पर एक आदिवासी अधिकारी को जातिसूचक अपमान व झूठा आरोप लगाने के लिए FIR हुई है और आप पर क़ानून कार्यवाही करेगा।आनंद राय की पेटिशन पर कपिल सिब्बल व विवेक तनखा जैसे 9 वकील खड़े हुए थे लेकिन कोर्ट ने कहा गलत है तो कार्यवाई होगी । 9 माह पहले मध्यप्रदेश में प्रतिनियुक्ति पर आए लक्ष्मण सिंह मरकाम पर सीएम शिवराज सिंह के OSD के होने के कारण आनंद राय और कांग्रेस द्वारा लगाए झूठे आरोपों पर उच्च न्यायालय ने फटकार भी लगाई थी।कोर्ट का फैसला आने के बाद आनंद राय की गिरफ्तारी हुई है