OBC आरक्षण को लेकर नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान, विपक्ष पर निशाना, बोले- साजिश के तहत अदालत गई कांग्रेस

सरकार ओबीसी आरक्षण के साथ चुनाव कराने के लिए अपनी तरफ से कोई कसर नही छोड़ेगी यह हमारा संकल्प है।

NAROTTAM MISHRA

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बिना ओबीसी आरक्षण (MP OBC Reservation) के नगरीय निकाय चुनाव (urban body elections) को लेकर प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने आज कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ओबीसी के साथ जो अन्याय का पाप किया है उसे पिछड़ा वर्ग कभी माफ नही करेगा।इतिहास गवाह है कि कांग्रेस ने हमेशा से ही आदिवासी व पिछड़ा वर्ग के साथ विश्वासघात ही किया है।

प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि सबसे पहले यह देखे की सुप्रीम कोर्ट ने ओबीसी आरक्षण को लेकर जो फैसला दिया वो किस कारण से दिया। कांग्रेस अगर इस मामले को लेकर अदालत नही जाती तो यह सब होता ही नही। हम तो ओबीसी आरक्षण के साथ ही चुनाव करा रहे थे कार्यवाही भी शुरू कर दी थी लेकिन हमेशा ओबीसी वर्ग के खिलाफ रही कांग्रेस अदालत चली गयी।अदालत में कांग्रेस ने इस मामले को इतना कानूनी प्रक्रियाओं में उलझा दिया कि पिछड़े वर्ग को आरक्षण से ही बाहर कर दिया।

डॉ मिश्रा ने कहा कि अगर चुनाव या आरक्षण को लेकर कही हम गलत थे तो कांग्रेस जनता की अदालत में जाती चुनाव लड़ती वहां जनता फैसला कर देती की कौन सही था कौन गलत।लेकिन कांग्रेस चुनाव से भाग कर अदालत पहुच गयी।गृह मंत्री डॉ मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस ने पिछड़े वर्ग के साथ साजिश के तहत अन्याय किया है । यहां विपक्ष में है तो आरक्षण को लेकर अदालत चले गए और मामला उलझा दिया और महाराष्ट्र में सत्ता में है तो इस मामले में सही रिपोर्ट अदालत में नही पेश की और पिछड़े वर्ग को आरक्षण से वंचित करा दिया।दरअसल कांग्रेस का असली चेहरा ही यही है।

Read More : कर्मचारियों को जल्द होगा मानदेय का भुगतान, आदेश जारी, 25 तक काम पूरा करने के निर्देश

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस झूठे आंसू आंसू बहाकर इसके लिए बीजेपी और शिवराज सरकार को दोषी बताते हुए आरोप लगा रही है।जबकि सच यही है कि बीजेपी से बड़ा हितेषी ओबीसी का कोई राजनेतिक दल नही है।हमने तीन मुख्यमंत्री इस ओबीसी वर्ग से दिए है।

उमा श्री भारती, स्व बाबू लाल गौर व वर्तमान में सीएम शिवराज सिंह चौहान इसी वर्ग से आते है।वर्तमान प्रधानमंत्री मोदी जी भी इसी वर्ग के है।भाजपा की ओर से विक्रम वर्मा नेता प्रतिपक्ष रह चुके है वह भी इसी वर्ग आते है।वही यह काँग्रेस जो आज ओबीसी के नाम पर झूठे आंसू बहा रही है इस पार्टी ने आज तक न तो पिछड़े वर्ग के किसी नेता को सीएम बनने दिया और न ही नेता प्रतिपक्ष बनाया। उल्टे जिसने यह प्रयास किया उसे हाशिये पर डाल दिया।

गृह मंत्री ने कहा कि सच तो यही है कि कांग्रेस ने हमेशा पिछड़े वर्ग के साथ अन्याय किया है। स्व सुभाष यादव जी जब सीएम बनने वाले थे तो उन्हें साजिश रच कर नही बनने दिया।उनके पुत्र व वरिष्ठ नेता अरुण यादव को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया ,उन्हें चुनाव का टिकिट नही दिया ।कमलनाथ जी इन्ही अरुण यादव को हटा कर प्रदेश अध्यक्ष बन गए। यह सब उदाहरण बताते है कि पिछड़े वर्ग के किसी भी नेता को कांग्रेस में बढ़ने नही दिया गया।

गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने पिछड़े वर्ग के खिलाफ जो शुरू से साजिश रची यह वर्ग भी आ अच्छे से जानता है। यह जो वर्तमान में नेता प्रतिपक्ष है इन्ही ने विधानसभा में जानकारी दी थी कि पिछडो की आबादी के अनुसार उन्हें 27 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना चाहिए यही जानकारी अदालत में भी दी गई।नतीजा यह हुआ कि गलत जानकारी के कारण अदालत से 27%आरक्षण पर स्टे मिल गया। अदालत में भी इस मामले में तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने कितनी लापरवाही की यह किसी से छिपी नही है।

यह सब सिद्ध करने के लिए काफी है कि कांग्रेस हमेशा से ओबीसी वर्ग के साथ अन्याय करने का पाप करती आई है और ओबीसी वर्ग को आरक्षण से वंचित कराने का महापाप भी इसी कांग्रेस ने किया है। यह प्रदेश की जनता और ओबीसी वर्ग भी अच्छे से जानता है । कांग्रेस को इस पाप की कीमत चुकानी पड़ेगी। हम तो पहले भी ओबीसी आरक्षण के साथ चुनाव कराने के पक्ष में थे और आज भी है।सरकार ओबीसी आरक्षण के साथ चुनाव कराने के लिए अपनी तरफ से कोई कसर नही छोड़ेगी यह हमारा संकल्प है।